Breaking News

  • राशन कार्ड से जुड़ेगा बिजली मीटर, जानें कैबिनेट के पूरे फैसले
  • 300 यूनिट फ्री बिजली देने का था वादा 125 यूनिट में भी कट : जयराम ठाकुर
  • हिमाचल कैबिनेट : शिक्षकों के 486, पुलिस ऑफिशियल के 60 पदों सहित इन पोस्टों पर भर्ती को हरी झंडी
  • हिमाचल कैबिनेट : इन्हें नहीं मिलेगा 125 यूनिट फ्री बिजली का लाभ
  • शिमला : तारादेवी मंदिर में अब टौर के पत्तल में परोसा जाएगा लंगर
  • कंगना रनौत के चचेरे भाई की शादी, शेयर की खूबसूरत तस्वीरें, देखें
  • HPU में हुई शिक्षकों की भर्तियां सवालों के घेरे में : SFI ने की न्यायिक जांच की मांग
  • हिमाचल कैबिनेट की बैठक शुरू, लिए जाएंगे कई अहम फैसले
  • हिमाचल हाईकोर्ट के नए चीफ जस्टिस होंगे राजीव शकधर
  • शिमला पहुंचते ही भूस्खलन की घटना का निरीक्षण करने पहुंचे मुख्यमंत्री सुक्खू

घरेलू हिंसा के आरोप पर बोले विक्रमादित्य - पारिवारिक मामला, मीडिएशन से सुलझाएंगे

ewn24news choice of himachal 14 Dec,2022 6:51 pm

    शिमला। हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह पर उनकी पत्नी सुदर्शना सिंह ने घरेलू हिंसा के आरोप लगाए हैं। विक्रमादित्य सिंह की मां प्रतिभा सिंह, बहन के अलावा अन्य परिजनों पर भी सुदर्शना ने प्रताड़ना के आरोप लगाए हैं।




    राजस्थान के उदयपुर कोर्ट में मामले की सुनवाई होनी है। इस मामले पर विक्रमादित्य सिंह का बयान भी सामने आया है। उन्होंने कहा कि ये हमारा पारिवारिक मामला है जिसे हम मीडिएशन से सुलझाएंगे।

    विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया के माध्यम से स्पष्ट किया है कि गैर जमानती वारंट जारी करने के संबंध में न्यायालय द्वारा कोई आदेश पारित नहीं किया गया था, बल्कि हमने नोटिसों को स्वीकार किया है और कानून की प्रक्रिया से भागे नहीं हैं। इसके अलावा हमारी ओर से कोई चूक नहीं हुई है इसलिए हमारे खिलाफ गैर जमानती वारंट जारी करने का कोई सवाल ही नहीं है।

    जैसा कि प्रसारित किया गया समाचार स्पष्ट रूप से न्यायिक रिकॉर्ड के खिलाफ है और अदालत की वेबसाइट पर जानकारी अपलोड करने में कर्मचारियों द्वारा की गई चूक/त्रुटि के कारण उत्पन्न हुआ है। इसके बारे में पता चलने पर त्रुटि को सुधारने के लिए हमारे द्वारा उचित उपचारात्मक उपाय किए गए हैं। आवेदन की अनुमति दी गई है और सही जानकारी अब अदालत की वेबसाइट पर अपलोड/प्रतिबिंबित की गई है।

    यह सभी के द्वारा सत्यापन के लिए उपलब्ध है। साथ ही हम इस तथ्य की भी जांच कर रहे हैं कि क्या वेबसाइट पर गलत जानकारी अपलोड करना एक त्रुटि थी या किसी के द्वारा जानबूझकर हमारी छवि को धूमिल करने के इरादे से किया गया था। यदि ऐसा पाया जाता है, तो हम दीवानी और फौजदारी कानून के तहत ऐसे व्यक्तियों) के खिलाफ अपने कानूनी उपाय का लाभ उठाएंगे। इसके साथ ही विक्रमादित्य सिंह ने ये अपील की है कि ये उनका निजी व पारिवारिक मामला है जिसे सोशल मीडिया पर इस तरह नहीं उछाला जाना चाहिए।





    बता दें कि विक्रमादित्य सिंह की पत्नी सुदर्शना चंडावत ने पति और ससुराल वालों पर उदयपुर (राजस्थान) कोर्ट में घरेलू हिंसा की शिकायत दर्ज कराई है। यह शिकायत 17 अक्तूबर, 2022 को की गई है। 17 नवंबर, 2022 को पहली सुनवाई में अतिरिक्त मुख्य न्यायिक दंडाधिकारी उदयपुर की अदालत ने सुदर्शना के पति विक्रमादित्य सिंह, सास प्रतिभा सिंह, ननद अपराजिता, ननदोई अंगद सिंह और चंडीगढ़ निवासी अमरीन के खिलाफ वारंट जारी किया है।

    सभी प्रतिवादियों को उदयपुर कोर्ट में बुधवार को पेश होने के आदेश दिए गए थे। सुदर्शना चंडावत ने घरेलू हिंसा से महिला संरक्षण अधिनियम की धारा 20 के तहत उदयपुर कोर्ट में शिकायत दर्ज की है। सुदर्शना का आरोप है कि शादी के कुछ समय के बाद शिकायतकर्ता से घरेलू हिंसा की गई।


    शिकायतकर्ता ने अदालत से गुहार लगाई है कि उनके ससुराल वालों को शारीरिक, मानसिक और आर्थिक हिंसा न करने के लिए पाबंद कर उन्हें अलग से रहने के लिए मकान की व्यवस्था करने के आदेश पारित किए जाएं।
    मेवात राजवंश की राजकुमारी हैं सुदर्शना

    विक्रमादित्य सिंह की शादी मार्च 2019 में मेवात राजवंश की राजकुमारी सुदर्शना चुंडावत से हुई थी। दोनों में कुछ समय बाद अनबन हो गई। दोनों लंबे समय से अलग-अलग रह रहे हैं। विक्रमादित्य सिंह हिमाचल के 6 बार के सीएम रहे वीरभद्र सिंह के बेटे हैं और दूसरी बार शिमला ग्रामीण से विधायक चुनकर आए हैं। उनकी मां प्रतिभा सिंह इस वक्त हिमाचल कांग्रेस की अध्यक्ष व मंडी लोकसभा सीट से सांसद हैं।

Himachal Latest

Live video

Jobs/Career

Trending News

  • Crime

  • Accident

  • Politics

  • Education

  • Exam

  • Weather