Breaking News

  • मुख्यमंत्री सुक्खू बोले - बिकाऊ विधायकों ने भाजपा का कमल ही खरीद लिया
  • Breaking : हिमाचल पुलिस के कर्मचारी अब वर्दी में नहीं बना सकेंगे रील, वीडियो
  • लाहौल स्पीति : काजा पहुंची EVM और VVPAT, सुरक्षित स्ट्रॉन्ग रूम में पहुंचाईं
  • हिमाचल : गर्मी ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड, शिमला में रविवार सीजन का सबसे गर्म दिन
  • पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि : शिमला राजीव भवन में दी गई श्रद्धांजलि
  • हिमाचल के बागवानों को क्यों नहीं मिलते सेब के सही दाम, राहुल गांधी ने बताया कारण
  • हिमाचल में चढ़ा पारा, अभी सताएगी लू- इस दिन राहत की उम्मीद
  • हिमाचल मौसम अपडेट : अब इस दिन बारिश की उम्मीद, बरस सकते हैं मेघ
  • मनाली घूमने जा रहे पर्यटकों से भरे टैंपो ट्रैवलर और ट्रक में टक्कर, 13 घायल
  • पठानकोट-मंडी एनएच पर दरकी पहाड़ी, तीन मशीनें आई चपेट में, मार्ग अवरुद्ध

वादों से पीछे हट रही केंद्र सरकार : शिमला में किसानों ने निकाला राजभवन मार्च

    राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को सौंपा ज्ञापन

    शिमला। केंद्र सरकार द्वारा किसानों के साथ किए गए वादों से पीछे हटने के विरोध में और न्यूनतम समर्थन मूल्य की कानूनी गारंटी, किसानों की संपूर्ण कर्ज़ मुक्ति के समर्थन में संयुक्त किसान मोर्चा ने राजभवन मार्च किया और राज्यपाल के माध्यम से राष्ट्रपति को ज्ञापन सौंपा। संविधान दिवस के अवसर पर देश भर के किसानों ने अपने-अपने राज्यों के राज्यपालों के माध्यम से केंद्र सरकार द्वारा किसानों से किए गए वादे याद दिलाए।
    सैनिक स्कूल प्रवेश परीक्षा 8 जनवरी को, यह आवेदन की अंतिम तिथि

    राष्ट्रीय स्तर पर किसानों के आंदोलन के बाद केन्द्र सरकार ने तीन कृषि कानूनों को वापस लिया था। किसानों ने आंदोलन खत्म करने के लिए अपनी मांगें रखी थीं जिन्हें पूरा करने के लिए केन्द्र सरकार ने अपनी सहमति जताई थी परन्तु आंदोलन समाप्त होने के लगभग एक साल बाद भी केन्द्र सरकार ने उस पर कोई कार्यवाही नहीं की।
    रेलवे में 2521 पदों पर निकली भर्ती, 10वीं और ITI पास करें आवेदन-यह लास्ट डेट

    किसान स्वामीनाथन आयोग की सिफारिश के आधार पर सभी फसलों के लिए सी2+50 फीसदी के फार्मूला से एमएसपी की गारंटी, किसानों की कर्ज माफ़ी, बिजली संशोधन विधेयक, 2022 को वापस लेने, लखीमपुर खीरी जिला के तिकोनिया में चार किसानों और एक पत्रकार की हत्या के मुख्य साजिशकर्ता केन्द्रीय गृह राज्यमंत्री अजय मिश्र टेनी को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने सहित आठ मुख्य मांग कर रहे हैं। संयुक्त किसान मोर्चा ने सरकार को चेतावनी दी है कि यदि सरकार अपने वादों को पुरा नहीं करती है तो किसानों के पास आंदोलन को तेज करने के सिवाय और कोई रास्ता नहीं बचेगा।
    श्रद्धा हत्याकांड: आरोपी आफताब 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा 


    आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें  

Himachal Latest

Live video

Jobs/Career

Trending News

  • Crime

  • Accident

  • Politics

  • Education

  • Exam

  • Weather