Breaking News

  • 300 यूनिट फ्री बिजली देने का था वादा 125 यूनिट में भी कट : जयराम ठाकुर
  • हिमाचल कैबिनेट : शिक्षकों के 486, पुलिस ऑफिशियल के 60 पदों सहित इन पोस्टों पर भर्ती को हरी झंडी
  • हिमाचल कैबिनेट : इन्हें नहीं मिलेगा 125 यूनिट फ्री बिजली का लाभ
  • शिमला : तारादेवी मंदिर में अब टौर के पत्तल में परोसा जाएगा लंगर
  • कंगना रनौत के चचेरे भाई की शादी, शेयर की खूबसूरत तस्वीरें, देखें
  • HPU में हुई शिक्षकों की भर्तियां सवालों के घेरे में : SFI ने की न्यायिक जांच की मांग
  • हिमाचल कैबिनेट की बैठक शुरू, लिए जाएंगे कई अहम फैसले
  • हिमाचल हाईकोर्ट के नए चीफ जस्टिस होंगे राजीव शकधर
  • शिमला पहुंचते ही भूस्खलन की घटना का निरीक्षण करने पहुंचे मुख्यमंत्री सुक्खू
  • हिमाचल : 2200 से अधिक शिक्षकों की भर्ती जल्द, ये है सरकार का प्लान

JOA IT पेपर लीक केस : NSUI की मांग-और भर्तियों की भी हो जांच

ewn24news choice of himachal 25 Dec,2022 7:26 pm

    दोषी अधिकारियों और कर्मचारियों को मिले सजा

    शिमला। भारतीय राष्ट्रीय छात्र संगठन ने जूनियर ऑफिस असिस्टेंट पोस्ट कोड 965 (JOA IT) का पेपर लीक मामले को गंभीर बताते हुए कर्मचारी चयन आयोग की कार्य प्रणाली पर भी सवालिया निशान खड़े किए हैं।

    मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से मांग की है कि जैसे त्वरित कार्रवाई अभी तक हुई है, उसी प्रकार से भाजपा सरकार में हुई और भर्तियों को भी देखा जाए, जिन-जिन पर आरोप लगे हैं। जो अधिकारी व कर्मचारी दोषी पाए जाते हैं, उन्हें सजा मिले, ताकि प्रदेश के लाखों युवाओं का भरोसा इन संस्थाओं पर कायम रहे।
    सत्ता का रास्ता साफ- नेपाल के PM होंगे प्रचंड, नियुक्ति के आदेश जारी

    एनएसयूआई (NSUI) के राज्य महासचिव यासीन बट्ट ने कहा कि आज प्रदेश के सैकड़ों युवा दिन रात मेहनत कर रोजगार प्राप्त करने के लिए अलग अलग संस्थानों, विश्वविद्यालयों व पुस्तकालयों में पढ़ रहे हैं। पिछले पांच साल में कई पेपर लीक हो चुके हैं। NSUI लगातार पूर्व मुख्यमंत्री को अवगत कराता रहा।

    राज्यपाल के समक्ष भी पूर्व सरकार के कार्यकाल में हो रही धांधलियों को रखा गया, लेकिन तत्कालीन प्रदेश भाजपा सरकार ने कोई कार्रवाई नहीं की। यासीन बट्ट ने खुशी जताई कि मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू की सरकार ने दोषियों को पेपर लीक मामले को अंजाम देने से पहले ही पकड़ लिया।
    मंडी : क्रिसमस मनाने मनाली जा रहा था परिवार, खाई में गिरी कार

    उन्होंने कहा कि यह हिमाचल प्रदेश कर्मचारी चयन आयोग की विश्वसनीयता पर सवाल हैं कि सीक्रेट ब्रांच में CCTV कैमरे खराब हैं और पूर्व सरकार ने कोई ध्यान बीते पांच साल में नहीं दिया। इसके पूर्व प्रदेश सरकार पूरी तरह जिम्मेदार है। यह कैसे संभव है कि भाजपा सरकार के समय हुई भर्तियों में एक ही महिला अफसर का बेटा 3-4 बार पूरे प्रदेश में परीक्षाओं में टॉप कर रहा है।
    जयराम की बड़ी बात, अगर मिशन लोटस हुआ तो भाजपा नहीं जिम्मेदार

    ?feature=oembed" width="580" height="326" frameborder="0" allowfullscreen="allowfullscreen" data-origwidth="580" data-origheight="326" data-mce-fragment="1">
    हिमाचल: 24 घंटे में 10 हजार से अधिक वाहनों ने क्रॉस की अटल टनल

?feature=oembed" width="580" height="326" frameborder="0" allowfullscreen="allowfullscreen" data-origwidth="580" data-origheight="326" data-mce-fragment="1">
आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें  

Himachal Latest

Live video

Jobs/Career

Trending News

  • Crime

  • Accident

  • Politics

  • Education

  • Exam

  • Weather