Breaking News

  • मुख्यमंत्री सुक्खू बोले - बिकाऊ विधायकों ने भाजपा का कमल ही खरीद लिया
  • Breaking : हिमाचल पुलिस के कर्मचारी अब वर्दी में नहीं बना सकेंगे रील, वीडियो
  • लाहौल स्पीति : काजा पहुंची EVM और VVPAT, सुरक्षित स्ट्रॉन्ग रूम में पहुंचाईं
  • हिमाचल : गर्मी ने तोड़ा 10 साल का रिकॉर्ड, शिमला में रविवार सीजन का सबसे गर्म दिन
  • पंडित जवाहरलाल नेहरू की पुण्यतिथि : शिमला राजीव भवन में दी गई श्रद्धांजलि
  • हिमाचल के बागवानों को क्यों नहीं मिलते सेब के सही दाम, राहुल गांधी ने बताया कारण
  • हिमाचल में चढ़ा पारा, अभी सताएगी लू- इस दिन राहत की उम्मीद
  • हिमाचल मौसम अपडेट : अब इस दिन बारिश की उम्मीद, बरस सकते हैं मेघ
  • मनाली घूमने जा रहे पर्यटकों से भरे टैंपो ट्रैवलर और ट्रक में टक्कर, 13 घायल
  • पठानकोट-मंडी एनएच पर दरकी पहाड़ी, तीन मशीनें आई चपेट में, मार्ग अवरुद्ध

मंडी: स्वतंत्रता सेनानी भाई हिरदा राम को किया याद, मनाई जयंती

    स्वजनों ने मार्ल्यापण कर दी श्रद्धांजलि

    मंडी। हिमाचल के मंडी के इंदिरा मार्केट के छत पर स्वतंत्रता सेनानी भाई हिरदाराम की जयंती पर एक कार्यक्रम आयोजित किया गया। कार्यक्रम में स्कूली छात्राओं ने मातृ वंदना के साथ स्वतंत्रता सेनानी भाई हिरदाराम को याद व नमन किया। भाई हिरदा राम के स्वजनों सहित उपस्थित तमाम व्यक्तियों ने उनकी प्रतिमा पर माल्यार्पण कर श्रद्धांजलि दी।
    कांगड़ा-चंबा अग्निवीर भर्ती लिखित परीक्षा का रिजल्ट आउट-देखें यहां

    प्रसिद्ध साहित्यकार केके नूतन ने बताया कि भाई हिरदाराम का जन्म 28 नवंबर, 1885 को मंडी रियासत की राजधानी मंडी नगर में हुआ था। भाई हिरदा राम को याद करते हुए कहा कि वह एक सच्चे देशभक्त थे। उन्होंने देश के स्वतंत्रता संग्राम में अपनी अहम भूमिका निभाई है। उनके बलिदान को भुलाया नहीं जा सकता है।

    हिमाचल राज्य की शिक्षा में छठी कक्षा के पाठ्यक्रम में उनकी जीवनी को शामिल किया गया है तथा अब तक करीब 24 लाख विद्यार्थी उनकी जीवनी का अध्ययन कर चुके हैं। उन्होंने कहा कि भाई हिरदा राम के पुत्र को ऐसा दस्तावेज मिला है, जिसमें शहीद भगत सिंह ने भाई हिरदा राम को अपना प्रेरणा स्त्रोत होने का जिक्र किया है।

    विश्व हिंदू परिषद प्रांत सह गौ सेवा प्रमुख हरमीत सिंह बिट्टू ने स्वतंत्रता सेनानी हिरदा राम की जीवनी को प्रकाशित कराने के लिए प्रसिद्ध साहित्यकार केके नूतन की सराहना करते हुए कहा कि जो बारूद की लड़ाई हिरदा राम ने लड़ी है, वह कभी सामने ना आती, अगर साहित्यकार नूतन ने कलम से उनकी जीवनी का लेखन न किया होता।

    उन्होंने कहा कि मंडी जिले में सरदार पटेल यूनिवर्सिटी खोली गई है। इस यूनिवर्सिटी में शोध के रूप में भाई हिरदाराम की जीवनी को शामिल किया जाए और यहां के बच्चों को पीएचडी डिग्री हासिल करने में कहीं और न जाना पड़े। इस अवसर पर जिला भाषा अधिकारी प्रोमिला गुलेरिया, लेखक गंगाराम, केके नूतन, उमेश शर्मा, शमशेर सिंह, विश्व हिंदू परिषद प्रांत सह गौ सेवा प्रमुख हरमीत सिंह बिट्टू सहित अन्य गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।
    डीसी के निर्देश: दफ्तरों में जरूरत अनुसार चलाएं हीटिंग उपकरण 



    आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें  

Himachal Latest

Live video

Jobs/Career

Trending News

  • Crime

  • Accident

  • Politics

  • Education

  • Exam

  • Weather