Breaking News

  • एडीजी अभिषेक त्रिवेदी बोले- नूरपुर में गाड़ियों के शीशे तोड़ने वालों की हुई पहचान
  • हिमाचल 1500 रुपए योजना: 48 हजार से अधिक महिलाओं को 4500-4500 रुपए जारी
  • हिमाचल में बरसी राहत की फुहार, तेज तूफान में गिरे पेड़
  • देहरा उपचुनाव : जनसभाओं के लिए ये मैदान चिन्हित-डिटेल में जानें
  • हिमाचल बिजली बोर्ड कर्मचारियों ने MD के खिलाफ खोला मोर्चा, OPS भी मांगी
  • देहरा उपचुनाव : इजरायल वाटरे इंगटी सामान्य पर्यवेक्षक नियुक्त
  • हिमाचल : यहां गरज के साथ बारिश, ओलावृष्टि और तेज हवाओं का अलर्ट
  • हिमाचल : SMS से भेजे जाएंगे जेबीटी, शास्त्री, नॉन मेडिकल व एलटी TET के एडमिट कार्ड
  • अग्निवीर भर्ती : कांगड़ा और चंबा जिला के उम्मीदवारों के लिए अपडेट
  • देहरा से डॉक्टर राजेश शर्मा की टिकट कटने पर क्या बोले सुक्खू के यह मंत्री- पढ़ें

प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप: केंद्र सरकार का बड़ा फैसला-कांग्रेस ने बताया षड्यंत्र

    अब 9वीं और 10वीं कक्षा के छात्रों को किया जाएगा कवर

    नई दिल्ली। केंद्र सरकार के प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना को लेकर बड़ा बदलाव के बाद सियासत शुरू हो गई है। कांग्रेस ने इसे गरीब लोगों के साथ षड्यंत्र करार दिया है और फैसले को वापस लेने की मांग उठाई है। ऐसा न करने की स्थिति में आंदोलन को भी चेताया है।

    हिमाचल: ट्यूशन के लिए दबाव बना रहे थे शिक्षक- कसा शिकंजा

    बता दें कि प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप योजना को लेकर केंद्र सरकार ने कहा है कि अब सिर्फ 9वीं और 10वीं कक्षा में पढ़ने वाले छात्रों को ही योजना के तहत कवर किया जाएगा। सत्र 2022-23 से यह नया नियम लागू होगा। ओबीसी और अल्पसंख्यक समुदायों के 9वीं और 10वीं कक्षा के छात्र ही प्री-मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम में शामिल होंगे। पहले एक से 8वीं कक्षा के छात्रों को योजना का लाभ मिलता था। यह स्कॉलरशिप सामाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्रालय और जनजातीय मामलों के मंत्रालय के तहत प्रदान की जाती है।
    हिमाचल में सुर्खियां बना यूजी परीक्षा परिणाम, सदमे में छात्र- अभिभावक चिंतित

    उधर, कांग्रेस नेता रणदीप सिंह सुरजेवाला ने सोशल मीडिया पर वीडियो शेयर कर केंद्र सरकार के इस फैसले पर विरोध जताया है। उन्होंने कहा कि कक्षा 1 से कक्षा 8 तक के लाखों एससी, एसटी, ओबीसी और अल्पसंख्यक बच्चों की प्री-मैट्रिक छात्रवृत्ति योजना खत्म करना गरीब व शिक्षा पर कुठाराघात है। देश इसे कभी मंज़ूर नहीं करेगा। यह गरीब के खिलाफ षड्यंत्र है। उन्होंने कहा कि भाजपा पिछले 8 साल से ऐसे ही काम कर रही है। उन्होंने इस तुगलकी फरमान को वापस लेने की मांग की है। कहा कि अगर ऐसा न हुआ तो जन आंदोलन छेड़ा जाएगा और सरकार पी ईंट से ईंट बजा दी जाएगी।


    आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें  

Himachal Latest

Live video

Jobs/Career

Trending News

  • Crime

  • Accident

  • Politics

  • Education

  • Exam

  • Weather