Categories
Top News Lifestyle/Fashion Himachal Latest

मधुमक्खियों का नोसेमा रोग, इसके लक्षण और नियंत्रण

नोसेमा रानी मधुमक्खियों सहित व्यस्क यूरोपीय मधुमक्खियों की एक गंभीर बीमारी है। कुछ वर्षों में, नोसेमा शरद ऋतु और वसंत ऋतु में वयस्क मधुमक्खियों और कालोनियों को गंभीर नुकसान पहुंचा सकता है।

ये रोग बीजाणु बनाने वाले माइक्रोस्पोरिडियन – नोसेमा एपिस के कारण होता है।

इस जीव के बीजाणुओं को केवल प्रकाश सूक्ष्मदर्शी का उपयोग करके देखा जा सकता है। हाल के वर्षों में, एक अन्य नोसेमा, नोसेमा सेराना, ऑस्ट्रेलिया सहित कई देशों में यूरोपीय मधुमक्खियों को संक्रमित करता पाया गया है।

हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड ने TET का शेड्यूल किया जारी – डिटेल में पढ़ें 

 

नोसेमा का जीवन चक्र

जब नोसेमा एपिस के बीजाणु मधुमक्खियों द्वारा निगल लिए जाते हैं, तो वे पेट के अंदर 30 मिनट के भीतर अंकुरित हो जाते हैं। फिर जीव पेट की परत की कोशिकाओं में प्रवेश करता है।

ये अपने भोजन की आपूर्ति के रूप में कोशिका सामग्री का उपयोग करके तेजी से बढ़ता और गुणा करता रहता है।

मेजबान कोशिका में 6 से 10 दिनों में बड़ी संख्या में बीजाणु उत्पन्न होते हैं। परजीवी आसन्न स्वस्थ कोशिकाओं में भी प्रवेश कर सकता है और उन्हें संक्रमित कर सकता है। इससे संक्रमण और फैलता है।

व्यस्क मधुमक्खियों की सामान्य पाचन प्रक्रिया के दौरान, पेट की परत की स्वस्थ कोशिकाएं पेट में प्रवाहित होती हैं। वे फट जाते हैं और पाचक एंजाइम छोड़ते हैं।

संक्रमित कोशिकाएं भी इस तरह से नष्ट हो जाती हैं, लेकिन वे नोसेमा बीजाणु छोड़ती हैं न कि पाचक रस। ये बीजाणु पेट की परत की अन्य स्वस्थ कोशिकाओं को संक्रमित कर सकते हैं। कई बीजाणुओं से गुजरते हैं और मधुमक्खी के मल (मल मूत्र) में मौजूद होते हैं।

हिमाचल मौसम अपडेट : इन क्षेत्रों में बारिश रिकॉर्ड, भरमौर में हुई ओलावृष्टि
मधुमक्खियों पर नोसेमा का प्रभाव

संक्रमित नर्स मधुमक्खियों की हाइपोफौरिंजियल (ब्रूड फूड) ग्रंथियां रॉयल जेली का उत्पादन करने की क्षमता खो देती हैं, जिससे शहद मधुमक्खियों के बच्चों को खिलाया जाता है।

संक्रमित कॉलोनी की रानी द्वारा दिए गए अंडों का उच्च अनुपात परिपक्व लार्वा पैदा करने में विफल हो सकता है।

युवा संक्रमित नर्स मधुमक्खियां बच्चों का पालन-पोषण करना बंद कर देती हैं और रखवाली और भोजन तलाशने का काम करने लगती हैं – जो आमतौर पर बड़ी उम्र की मधुमक्खियां करती हैं।

संक्रमित मधुमक्खियों की जीवन प्रत्याशा कम हो जाती है। वसंत और गर्मियों में, संक्रमित मधुमक्खियां गैर-संक्रमित मधुमक्खियों की तुलना में आधी लंबाई तक जीवित रहती हैं।

संक्रमित रानियां अंडे देना बंद कर देती हैं और कुछ ही हफ्तों में मर जाती हैं। वयस्क मधुमक्खियों में पेचिश की वद्धि हालांकि नोसेमा पेचिश का प्रमुख कारण नहीं है।

बनखंडी चिड़ियाघर : चारदीवारी, पाथ और चेक डैम का निर्माण कार्य शुरू

 

नोसेमा के लक्षण

नोसेमा से संक्रमित मधुमक्खियां तो कोई लक्षण नहीं दिखाती हैं, या इस बीमारी के लिए कोई विशिष्ट लक्षण नहीं दिखाती हैं। नोसेमा रोग के लिए जिम्मेदार कई तथाकथित लक्षण वयस्क मधुमक्खियों की अन्य बीमारियों या स्थितियों पर भी लागू होते हैं। प्रकाश सूक्ष्मदर्शी का उपयोग
करके वयस्क मधुमक्खियों की जांच नोसेमा के बीजाणुओं की उपस्थिति का निदान करने का एकमात्र विश्वसनीय तरीका है।

संक्रमित कालोनियां कभी-कभी खतरनाक दर से वयस्क मधुमक्खियों को हो सकती हैं। संक्रमित मधुमक्खियां अकसर छत्ते से दूर मर जाती हैं और केवल कुछ बीमार या मृत मधुमक्खियां ही छत्ते के प्रवेश द्वार के पास पाई जा सकती हैं। इस स्थिति का वर्णन करने के लिए अकसर ‘स्प्रिंग डिंडल’
शब्द का प्रयोग किया जाता है।

धर्मशाला : मादा बंदर को लगा करंट, मरते-मरते बच्चे की बचा गई जान

हालांकि, इसे शुरुआती वसंत में पुरानी, अधिक सर्दियों वाली मधुमक्खियों के प्राकृतिक रूप से मरने के कारण होने वाली कॉलोनियों के सामान्य रूप से कमजोर होने के साथ भ्रमित निहीं किया जाना चाहिए।

छत्ते के प्रवेश द्वार के बाहर बीमार या रेंगने वाली मधुमक्खियां, जमीन पर मृत मधुमक्खियां और छत्ते के घटकों पर मल (पेचिश) नोसेमा संक्रमण से जुड़ा हो सकता है। हालांकि, ये स्थितियां अन्य बीमारियों और असामान्य स्थितियों के कारण भी समान रूप से हो सकती हैं।

नोसेमा पर नियंत्रण

मधुमक्खी पालक नोसेमा की घटनाओं को कम करने के लिए प्रबंधन प्रथाओं का उपयोग करते हैं। शहद उत्पादन मधुमक्खी के छत्ते में उपयोग के लिए नोसेमा के नियंत्रण के लिए रासायनिक उपचार ऑस्ट्रेलिया में पंजीकृत नहीं हैं। ऐसे किसी भी उपचार का उपयोग अवैध है और इसके परिणामस्वरूप निकाले गए शहद में अस्वीकार्य अवशेष हो सकते हैं।

नोसेमा अकसर मधुमक्खी कालोनियों में मौजूद होता है, हालांकि, अच्छे पोषण और स्वस्थ रानी वाली एक मजबूत कॉलोनी संक्रमण का प्रतिरोध
करने में बेहतर सक्षम होगी। छत्तों को सूखा रखें और ठंडी और गीली हवाओं से बचाकर रखें। सुनिश्चित करें कि कॉलोनियों में अच्छे पोषण की पहुंच हो।

कुछ न्यायक्षेत्रों में, नोसेमा संक्रमण के इलाज के ललए एंटीबायोटिक फूमागिलिन की सिफारिश की जाती है। हालांकि, जब शहद सुपर छत्ते पर हो तो एंटीबायोटिक दवाओं का उपयोग कभी नहीं किया जाना चाहिए। एंटीबायोटिक्स ऐसे अवशेष छोड़ सकते हैं जो छत्ते में वर्षों तक रह सकते हैं और जो उत्पादित शहद को दूषित कर सकते हैं।

-सक्षम जामवाल, नूरपुर (हिमाचल प्रदेश)
छात्र, बीएससी एग्रीकल्चर, अंतिम वर्ष
डीएवी यूनिवर्सिटी, जालंधर

हिमाचल में नया स्कैम : बाहर पढ़ रहे बच्चों के नाम पर डरा धमका कर वसूल रहे पैसे

हिमाचल की पहली महिला निजी बस चालक बनी नैंसी, सवारियों से भरी बस चलाई

शिमला : चेरी के अच्छे दाम मिलने से बागवानों के खिले चेहरे, कितने में बिकी – जानें

हरिपुर : भटोली फकोरियां से रंबियाल सड़क के टारिंग कार्य पर उठे सवाल

हिमाचल में असिस्टेंट स्टेट टैक्स एंड एक्साइज ऑफिसर के भरे जाएंगे पद – जानें डिटेल

हिमाचल में 3 दिन बारिश, तेज हवा चलने को लेकर येलो अलर्ट जारी – जानें डिटेल

हिमाचल विधानसभा उप चुनाव : कांग्रेस ने धर्मशाला से देवेंद्र सिंह जग्गी को दी टिकट

मंडी : घर में अकेली महिला के साथ दुष्कर्म करने के दोषी को 7 साल की कैद 

हिमाचल निर्दलीय विधायक इस्तीफा मामला : दो जज के मत अलग, तीसरे की लेंगे राय

हिमाचल : आज की मौसम अपडेट, पश्चिमी विक्षोभ का क्या रहेगा असर- जानें 

कांगड़ा : नूरपुर रोड से खाली डिब्बों के साथ बैजनाथ-पपरोला के लिए निकली ट्रेन 

HPbose 10th Result : पुनर्मूल्यांकन/पुनर्निरीक्षण को आवेदन की अंतिम तिथि यह, फोन नंबर भी जारी 
हिमाचल और देश दुनिया से जुड़ी हर बड़ी अपडेट के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से यहां करें क्लिक- https://www.facebook.com/ewn
Categories
Lifestyle/Fashion

This Mothers’ Day, say it with the Gift of Wellbeing; Experiential Spa Gifts for Moms from Tattva

For generations, Mothers’ Day has been synonymous with a predictable (yet well-meaning) routine: flowers, a heartfelt card, and maybe brunch if youre feeling particularly ambitious. Honestly, the gifting landscape is evolving.

Consumers are increasingly seeking experiences over materialistic objects, prioritizing wellness and quality time over fleeting gestures.

This Mothers’ day, say it with the gift of wellbeing; Experiential Spa Gifts for Moms from Tattva

With Mothers’ day round the corner, Tattva has introduced unique wellness spa experiences with some fun additions to accentuate the Mothers day celebration like never before.

These packages make for the perfect Gift not only for one’s Mother or Grandmother but also for a wife who is a mother to your naughty kids, a friend who is a new mother, someone who is a pet-mom or someone you consider a mother-figure.

Why is that You ask This is because some gentle pampering is always welcome & the Tattva Wellness Spa team never disappoints. Tattva Wellness Spa Gifts are easy to shop online (www.tattvaspa.com) and deliver an E-Gift card instantly.

One can also add a heartfelt personalized note for mom with this Gift. For the Mom’s who like the finer things in life, Tattva has an option of ordering a plush Gift box too.

These three unique Mothers Day Gifts are designed to melt away the stress, rekindle her spirit, and rejuvenate truly. Gift mom the deep nurturing she deserves with a therapeutic massage, rejuvenating facial and more.

Imagine her sinking into a plush robe, soothing fragrances surrounded by Mothers’ day special decor and the calming glow of candles. The calming ambience paired with indulgent treats will leave her feeling pampered and stress-free.

1. Mothers Day Pampering – Tattva Spa Gift – INR 7200

Sometimes, the ultimate gift is the space to simply be. Tattva’s “Mothers Day Pampering” package offers a haven for Mom to unwind and recharge.

This 90-minute escape allows her to choose between a rejuvenating massage or a revitalizing facial, both expertly done by therapists. The experience is further enhanced by decadent chocolates, dry fruits, and a refreshing drink, ensuring every detail is meticulously crafted for pure indulgence.

2. Mom & Daughter Spa Getaway – Tattva Spa Gift – INR 9200

Motherhood is a beautiful journey, but it can also be all-encompassing. Our “Mom & Daughter Spa Getaway” offers a chance to reconnect and strengthen the special bond between mothers and daughters.

Imagine the two of you side-by-side, sharing a blissful 60-minute massage or facial. The serene ambience, complete with cozy decor and soothing music, sets the stage for heartfelt conversations and unforgettable moments.

As you indulge in delectable chocolates, dry fruits, and refreshing drinks, the experience transcends pampering, becoming a memory youll both cherish.

3. Mom Deserves the Best of Everything – Tattva Spa Gift – INR 11,000

For the woman who truly deserves the best, our “Mom Deserves the Best of Everything” package is an indulgent ode to appreciation. Imagine Mom basking in the glow of a 60-minute facial, followed by her choice of a soothing foot or head massage.

This pampering doesnt stop there. Weve included a gift card worth INR 2000, allowing her to extend the celebration with a delicious lunch or dinner on us.

The cozy room decor and soothing ambience create a haven for pure relaxation, where she can truly feel valued and cherished. To elevate the experience further, weve included decadent chocolates, dry fruits, and a refreshing drink, alongside a delightful spa gift from VILASA by Tattva.

Our pampering Gift of wellness includes 100% pure soy wax aromatherapy candles, premium foot therapy cream, Ayurvedic hair therapy oil, or spa aroma clay diffusers – a thoughtful token to extend the spa experience at home.

A note from the Founder

As a working mother myself, I understand the constant juggle and the toll it takes,” says Shipra Sharma, Co-founder of Tattva Wellness Spa. “I personally owe everything that I have accomplished to my mom who has always been my logical sounding board & source of energy.

I am not sure if we can ever thank Mom’s enough for all they do for us. This Mothers Day, we want to offer a chance to all who are celebrating Moms & motherhood, to gift wellbeing & pampering.

Our Mothers’ Day Spa Gifts are designed to provide a multi-sensory escape that goes beyond the ordinary. Its a gift of self-care that Mom will cherish long after the day is done.

About Tattva Wellness Spa

Tattva Wellness Spa is India’s most trusted wellness and beauty brand in India. Tattva offers premium spa and salon services through 90+ spa centers across 30+ cities in India.

Tattva wellness spa centers are located at luxury & premium hotels & resorts across internationally branded hotels like Marriott International, Hilton, Accor, IHG & Radisson.

Tattva has steadily grown over the last 11 years to become India’s largest chain of wellness spas with over 600 professionally trained wellness therapists who are dedicated to alleviating stress from people’s lives helping them “Live Better, Live More & Do More”.

For more information about Tattva Wellness Spa and its range of wellness spa gifts, please visit www.tattvaspa.com.

Home

Categories
Lifestyle/Fashion Himachal Latest Kangra State News

कांगड़ा : युवतियों को दी जाएगी ब्यूटी पार्लर की ट्रेनिंग, यहां करें संपर्क

6 मई, 2024 से होगा शुरू

धर्मशाला। पंजाब बैंक ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान धर्मशाला जिला कांगड़ा द्वारा बेरोजगार युवतियों के लिए 6 मई 2024 से ब्यूटी पार्लर का निशुल्क प्रशिक्षण शुरू करवाने जा रहा है।

आरसेटी की निदेशक गरिमा ने बताया कि 30 दिवसीय प्रशिक्षण शिविर में ग्रामीण क्षेत्र की युवतियां भाग ले सकती हैं, जिन्हें स्वरोजगार के लिए प्रशिक्षण दिया जाएगा।

इसके बाद उन्हें बैंक से ऋण भी प्रदान करवाया जाएगा। निदेशक ने बताया कि जिला कांगड़ा में 18 से 45 वर्ष की उम्र के बीच के युवाओं को स्वरोजगार स्थापित करने के लिए निशुल्क प्रशिक्षण प्रदान करवाता है, जिसमें प्रशिक्षणार्थी के रहने, खाने पीने, यूनिफॉर्म, ट्रेनिंग मटेरियल आदि सस्थांन के द्व्रारा ही प्रदान किया जाएगा।

प्रशिक्षण प्राप्त करने के इच्छुक युवक एवं युवतियां नजदीक गर्वमेंन्ट कॉलेज ओडिटोरियम सिविल लाइन धर्मशाला, पीएनबी ग्रामीण स्वरोजगार प्रशिक्षण संस्थान कांगड़ा में संपर्क कर सकते हैं।

अधिक जानकारी के लिए संस्थान के निदेशक गरिमा से उनके दूरभाष नंबर 9459900660 एवं ऑफिस नंबर 01892227122 पर संपर्क कर सकते हैं।

प्रशिक्षण प्राप्त करने के बाद प्रशिक्षुओं को प्रमाण पत्र प्रदान किए जाएंगे, जिसके माघ्यम से प्रशिक्षणार्थी स्वंय रोजगार स्थापित करने के लिए हमारे माध्यम से जिला कांगड़ा के किसी भी बैंक से ऋण के लिए आवेदन कर सकते हैं।

 

कांगड़ा : पठानकोट-जोगिंदरनगर रेल ट्रैक पर नूरपुर रोड से दौड़ा इंजन

हिमाचल में नया स्कैम : बाहर पढ़ रहे बच्चों के नाम पर डरा धमका कर वसूल रहे पैसे

हरिद्वार से चंबा जा रही HRTC बस और कार में टक्कर, एक की मौत 
हिमाचल निर्दलीय विधायक मामला : हाईकोर्ट में तीन घंटे हुई बहस-जानें अपडेट

Exclusive : जल्द खत्म होगा इंतजार : नूरपुर रोड से दौड़ेगी ट्रेन
हमीरपुर : युवक ने खुद पर चाकू से किया वार, गई जान- पुणे में करता था नौकरी 

शाबाश : हिमाचल के रजत कुमार ने UPSC CDS-2 में देशभर में किया टॉप
Breaking : हिमाचल में HPS के इन पदों पर होगी भर्ती- डिटेल में जानने को पढ़ें खबर

शिमला : तीन निर्दलीय विधायकों की सदस्यता रद्द करने को याचिका दायर

पालमपुर वारदात : सरकार उठाएगी युवती के इलाज का खर्च, अधिकारिक आदेश जारी
दुबई में नौकरी का मौका : सिक्योरिटी गार्ड, होटल स्टाफ, नर्स केयरटेकर के पद

सोलन जिला के नमन कुमार ने पास की UPSC CDS-2 परीक्षा, देशभर में 14वां रैंक
हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग : SET- 2023 को लेकर बड़ी अपडेट
हिमाचल और देश दुनिया से जुड़ी हर बड़ी अपडेट के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से यहां करें क्लिक- https://www.facebook.com/ewn2
Categories
Top News Lifestyle/Fashion KHAS KHABAR State News

पुराना स्मार्टफोन बेचते वक्त ध्यान रखें ये पांच बातें, फ्रॉड का शिकार होने से बचें

आज के समय में लोगों के नया स्मार्टफोन लेने का बेहद शौक है। कुछ लोगों हर साल अपना पुराना स्मार्टफोन चेंज करते हैं तो कुछ महीनों में। लोग समय से साथ अपडेट हो रहे स्मार्टफोन खरीदने के खूब शौकीन रहते हैं।

इसका एक कारण ये भी है कि मार्केट में अब ऐसे कई बेहतरीन ऑफर मिल जाते हैं जिनमें पुराने स्मार्टफोन के बदले नया स्मार्टफोन कम पैसों में खरीदा जा सकता है।

भारतीय चुनाव आयोग ने बताया सोशल मीडिया पर वायरल हो रही इस खबर का सच

 

ऑफर तो एक से बढ़कर एक हैं, लेकिन आप इन सब के चक्कर में अपना स्मार्टफोन बेचने में जल्दबाजी न करें वरना आप किसी मुसीबत में भी फंस सकते हैं।

पुराना स्मार्टफोन बेचने से पहले आपको कुछ बातों का ध्यान रखना बेहद जरूरी है। हम आपको ऐसे पांच स्टेप बताने जा रहे हैं जिसको फॉलो करने से आप पुराने स्मार्टफोन से होने वाले किसी भी तरह के फ्रॉड का शिकार होने से बच सकते हैं ….

ज्वालामुखी : मझीण में पति की मौत के बाद महिला से मारपीट- स्टोर रूम में रखा कैद

 

व्हाट्सएप का बैकअप जरूर लें

सबसे पहले तो पुराने फोन को बेचने से पहले व्हाट्सएप का बैकअप जरूर लें, क्योंकि व्हाट्सएप में कई तरह की निजी बातें और चैटिंग रहती हैं। इसका फायदा ये रहेगा कि जब आप नए फोन में व्हाट्सएप को इंस्टॉल करेंगे तो वहां आपकी चैट रिस्टोर हो जाएगी।

ई-सिम की प्रोफाइल जरूर करें डिलीट

यदि आप सिम कार्ड इस्तेमाल करते हैं तो उसे जरूर निकाल लें और यदि ई-सिम का इस्तेमाल करते हैं तो ई-सिम की प्रोफाइल जरूर डिलीट करें। फोन की सेटिंग में जाकर इसे डिलीट किया जा सकता है।

अब WhatsApp चैट को कर सकेंगे लॉक, जल्द आ रहा है ये नया फीचर

 

हर तरह के डाटा का बैकअप लें

स्मार्टफोन को बेचने से पहले उसमें मौजूद हर तरह के डाटा का बैकअप जरूर लें।

बैकअप के लिए गूगल फोटोज, गूगल ड्राइव, Microsoft OneDrive, DropBox या किसी दूसरे क्लाउड सर्विस का इस्तेमाल करें। आप चाहें तो एक्सटर्नल ड्राइव में भी बैकअप ले सकते हैं।

यूपीआई और पेमेंट एप्स को करें डिलीट

स्मार्टफोन बेचने से पहले उसमें मौजूद सभी तरह के यूपीआई और पेमेंट एप्स को डिलीट करें और उसके डाटा को भी डिलीट करें।

अगर आप ऐसा नहीं करते हैं तो आपके बाद जिसके हाथ में ये फोन आएगा वह किसी तरह से आपके यूपीआई का एक्सेस कर आपके खाते से पैसे निकाल सकता है।

सभी तरह के अकाउंट को लॉग आउट करें

स्मार्टफोन बेचने से पहले उसमें मौजूद सभी तरह के अकाउंट को लॉग आउट करना बेहद जरूरी है। इसके बाद ही उसे फैक्ट्री रिसेट करें।

गूगल से लेकर फेसबुक, व्हाट्सएप, इंस्टाग्राम, एक्स आदि अकाउंट को भी लॉग आउट करें क्योंकि फैक्ट्री रिसेट के बाद भी कुछ ऐप लॉग आउट न किए जाने के कारण ऑन रह सकती हैं और कोई भी आपके सोशल मीडिया अकाउंट का गलत फायदा उठा सकता है।

ठियोग : इंदु वर्मा की घर वापसी, समर्थकों सहित फिर ज्वाइन की भाजपा 

 

शिमला : व्यक्ति ने मंदिर में लगाई आग, लोगों ने पीट-पीट कर ले ली जान

हिमाचल हाईकोर्ट में CPS मामले में हुई सुनवाई, 22 अप्रैल से होगी बहस 

चिंतपूर्णी : मां को मोक्ष प्राप्ति के लिए 70 किलोमीटर पैदल चली बेटी आस्था अग्निहोत्री 

मंडी में भाजपा पदाधिकारियों की बैठक : कंगना की मौजूदगी से रूठे वरिष्ठ नेता नहीं पहुंचे
HRTC लग्जरी बसों में किराया बढ़ोतरी को लेकर अपडेट- सच आया सामने

हिमाचल : मार्च माह में खूब बरसे मेघ, प्री मानसून सीजन में अच्छी बारिश

हिमाचल और देश दुनिया से जुड़ी हर बड़ी अपडेट के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से यहां करें क्लिक- https://www.facebook.com/ewn24
Categories
TRENDING NEWS Top News Lifestyle/Fashion Himachal Latest Shimla State News

हिमाचल बजट : शादी सहित अन्य समारोह के लिए डिपुओं से खरीद सकेंगे सरसों तेल और रिफाइंड

मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू ने बजट भाषण में की घोषणा

शिमला। हिमाचल में अब शादी, त्योहार और अन्य समारोह के लिए राशन डिपुओं से सरसों तेल और रिफाइंड खरीदा जा सकेगा।

यह ऐलान मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने बजट भाषण में किया है‌। मुख्यमंत्री ने अपनी सरकार के कार्यकाल का दूसरा बजट शनिवार को हिमाचल विधानसभा में पेश किया।

हिमाचल बजट : कर्मचारियों और पेंशनरों को DA का ऐलान, एरियर पर भी बड़ी अपडेट

 

बजट भाषण में मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि राशन डिपो के माध्यम से फूड सेफ्टी एंड स्टैंडर्ड अथॉरिटी ऑफ इंडिया (FSSAI) के मानदंडों के अनुसार विटामिन A और D से फोर्टिफाईड सरसों का तेल और रिफाइंड तेल दिया जा रहा है।

अभी तक यह तेल उपभोक्ताओं को राशन डिपो से सीमित मात्रा में ही उपलब्ध होता है। शादी, त्योहार और अन्य समारोह में उपभोक्ताओं को तेल खुले बाजार से ऊंचे दाम में खरीदना पड़ता है।

हिमाचल बजट : SMC, IT टीचर, आंगनबाड़ी, आशा वर्कर, पंप ऑपरेटर सहित इनका मानदेय बढ़ा

 

मैं घोषणा करता हूं कि एक अप्रैल, 2024 से सभी उपभोक्ता अपनी आवश्यकता अनुसार राशन डिपो से यह तेल प्राप्त कर सकेंगे। इससे राज्य की महिलाओं को 100 करोड़ रुपए का लाभ मिलेगा।

बजट भाषण में उन्होंने कहा कि पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम को और सुदृढ़ करने के लिए इंटिग्रेटिड मैनेजमेंट ऑफ पब्लिक डिस्ट्रीब्यूशन सिस्टम (IMPDS) को अपग्रेड किया जाएगा।

Breaking : हिमाचल में बहुत भारी बर्फबारी और बारिश के लिए रेड अलर्ट जारी

वन नेशन, वन राशनकार्ड के तहत नेशनल पोर्टेबिलिटी (National Portability) को और सुदृढ़ किया जाएगा। इससे एनएफएसए के प्रावधानों के अनुसार राशन वितरण को पारदर्शी बनाने में सहायता मिलेगी।

इसके अंतर्गत वेब आधारित केवाईसी का प्रावधान किया जाएगा, जिससे इंटर स्टेट पोर्टेबिलिटी के तहत लाभार्थियों को इस योजना के लाभ किसी भी राज्य में मिल सकेंगे।

मिलों से आवंटित आटे की गोदामवार निगरानी सुनिश्चित की जाएगी। खाद्य उपदान के लिए कुल 200 करोड़ रुपए से अधिक व्यय किए जाएंगे।

 

हिमाचल में बहुत भारी बर्फबारी का अलर्ट, बारिश और तेज हवाएं चलने की भी संभावना

 

हिमाचल बजट : ‘हिमकेयर’ और ‘सहारा’ योजना को लेकर बड़ी अपडेट- डिटेल में पढ़ें
विक्रमादित्य को उदयपुर फैमिली कोर्ट से झटका : पत्नी को हर माह देने होंगे 4 लाख

हिमाचल बजट : पदक विजेता खिलाड़ियों की पुरस्कार राशि बढ़ी, डाइट मनी में भी बढ़ोतरी

हिमाचल बजट : 6 हजार नर्सरी टीचर की होगी भर्ती, आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं को भी मिलेगा मौका

हिमाचल बजट : पंचायत प्रतिनिधियों का बढ़ा मानदेय, मनरेगा दिहाड़ी में भी बढ़ोतरी

Categories
Top News Lifestyle/Fashion Himachal Latest Kangra State News

ज्वालाजी में महिलाओं ने सजाए ऑर्गेनिक उत्पाद, हर्बल साबुन रहे आकर्षण का केंद्र

स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं ने लगाए सटॉल

सुभाष चौहान/ज्वालामुखी। कांगड़ा जिला के राजकीय महाविद्यालय ज्वालाजी में सरकार गांव के द्वार कार्यक्रम का आयोजन किया गया। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कार्यक्रम में शिरकत की।

ज्वालाजी कॉलेज परिसर में स्वयं सहायता समूहों की महिलाओं द्वारा स्टॉल और विभिन्न विभागों द्वारा प्रदर्शनियां भी लगाई गईं।

हिमाचल : टेट का रिजल्ट घोषित, 26.1 फीसदी रहा परिणाम, देखें

 

इस दौरान देहरा विकास खंड के अंतर्गत गुगाणा, गुरकाल व खबली पंचायत के स्वयं सहायता समूहों के द्वारा तैयार किए गए उत्पाद आकर्षण का केंद्र बन रहे।

गुगाणा पंचायत से पूर्व ब्लॉक समिति सदस्य मधुबाला ने बताया कि उन्होंने स्वयं सहायता समूह बनाया है, जिसमें महिलाओं ने नहाने के साबुन बनाने का प्रशिक्षण लिया है। यहां महिलाएं मिलकर कई प्रकार के नहाने के हर्बल साबुन व उत्पाद तैयार करती हैं।

महिलाएं प्लाश, नीम, तुलसी आदि से साबुन तैयार करती हैं, जोकि बिना किसी कैमिकल के बनाया जाता है और स्किन के लिए भी हानिकारक नहीं होता।

HRTC कंडक्टर भर्ती को लेकर बड़ी अपडेट, HPPSC ने जारी किया नोटिस

 

मधुबाला ने बताया कि वह महिलाओं के साथ मिलकर काफी समय से ये काम कर रही हैं और अन्य महिलाओं को भी इसका प्रशिक्षण दे रही है, ताकि वह भी स्वरोजगार से जुड़ सकें।

घुरकाल (भड़ोली) पंचायत से उषा धीमान ने बताया कि स्वयं सहायता समूह की महिलाएं मिलकर आचार, मुरब्बा, चटनी व अन्य खाद्य उद्पात बनाती हैं। ये सभी उत्पाद बिना किसी कैमिकल के ऑर्गेनिक तरीके से तैयार किए जाते हैं।

कांगड़ा : दुबई में सिक्योरिटी गार्ड के 200 पदों पर भर्ती, 70000 रुपए तक सैलरी

 

खबली पंयाचत से अनु कुमारी ने बताया कि वह कृषक बहनों के साथ मिलकर मोटे अनाज से खाद्य उत्पाद बनाने का काम करती हैं। महिलाएं रागी के लड्डू और चॉकलेट, बाजरे की बर्फी, कंगनी की खीर सहित और भी पौष्टिक खाद्य पदार्थ तैयार करती हैं।

वहीं ज्वालाजी के दरंग पंयाचत से रजनी हांडा ने बताया कि वह महिलाओं के साथ कॉस्टयूम ज्वेलरी बनाती हैं। हाल ही में महिलाओं को इसका प्रशिक्षण दिया गया है जिसके बाद महिलाएं अपने हाथों से खूबसूरत कॉस्टयूम ज्वेलरी तैयार कर रही हैं।

ज्वालामुखी में बोले मुख्यमंत्री सुक्खू, भर्तियों के लिए 31 मार्च डेडलाइन तय

हिमाचल लोक सेवा आयोग ने घोषित किया HAS मुख्य परीक्षा का रिजल्ट

 

पझौता : बारिश और बर्फबारी से धंसी सड़क, लुढ़की कार-एक की गई जान 
हमीरपुर : भोरंज में लगेगा रोजगार मेला, नौकरी चाहिए तो 10 फरवरी को पहुंचें

बद्दी फैक्ट्री मामला : झाड़माजरी पहुंचे मुख्यमंत्री सुक्खू, प्रभावित परिवारों से मिले

सिक्योरिटी गार्ड के 120 पदों पर भर्ती : मंडी जिला के गोहर में होंगे इंटरव्यू

बीड़ : युवक-युवती के शव मिले, कुत्ते ने अंतिम वक्त तक मालिक से निभाई वफादारी 
HRTC का प्लान 350….ड्राइवर, कंडक्टर की होगी भर्ती, आएंगी इलेक्ट्रिक बसें

सोलन : अर्की वन मंडल में वन मित्र भर्ती के लिए फिजिकल टेस्ट की तिथि घोषित

हमीरपुर : भोरंज में लगेगा रोजगार मेला, नौकरी चाहिए तो 10 फरवरी को पहुंचें
जेएनवी पपरोला में 9वीं और 12वीं कक्षा लेटरल चयन परीक्षा को लेकर अपडेट 

हिमाचल और देश दुनिया से जुड़ी हर बड़ी अपडेट के लिए जुड़ें हमारे फेसबुक पेज से यहां करें क्लिक- https://www.facebook.com/ewn24
Categories
TRENDING NEWS Top News Lifestyle/Fashion Himachal Latest Kangra State News

कांगड़ा जिला में इन बच्चों को हर दिन मिलेगी चॉकलेट- डिटेल में पढ़ें

कुपोषित बच्चों के लिए शुरू किया है मिशन भरपूर अभियान

धर्मशाला। कांगड़ा जिला में कुपोषित बच्चों को हर दिन चॉकलेट दी जाएगी। ऐसा मिशन भरपूर अभियान के तहत किया जाएगा। जिला कार्यक्रम अधिकारी अशोक शर्मा ने बताया कि महिला बाल विकास विभाग की ओर से महिला सशक्तिकरण के लिए विभिन्न कार्यक्रम आरंभ किए गए हैं। कांगड़ा जिला में कुपोषित बच्चों के लिए मिशन भरपूर अभियान भी आरंभ किया गया है।

बद्दी परफ्यूम फैक्ट्री मामला : 5 कामगारों की गई जान, 4 की हुई पहचान-चार लापता

 

इस अभियान के तहत जिला में 940 के करीब कुपोषित बच्चों को हर दिन पौष्टिक तत्वों से युक्त चॉकलेट बार उपलब्ध करवाई जाएगी। धर्मशाला ब्लॉक की 162 आंगनबाड़ी केंद्रों के माध्यम से इस अभियान को चलाया जा रहा है, ताकि कुपोषित बच्चों का स्वास्थ्य बेहतर हो सके।

Job Alert हमीरपुर : सिक्योरिटी गार्ड और सुपरवाइजर के 100 पदों पर भर्ती, पढ़ें डिटेल

 

उन्होंने कहा कि सरकार के महत्वाकांक्षी कार्यक्रम सुखाश्रय योजना के तहत 18 से 27 आयु वर्ग के निराश्रित बच्चों को व्यवसायिक प्रशिक्षण, कौशल विकास और कोचिंग के साथ साथ समाज के सक्रिय सदस्य बनने में मदद करने के लिए वित्तीय और संस्थागत लाभ प्रदान करने का प्रावधान किया गया है।

जमा दो की कक्षा उत्तीर्ण कर चुके निराश्रित बच्चों को कोचिंग के लिए एक लाख रुपए की आर्थिक मदद का प्रावधान किया गया है। स्किल डिवलपमेंट तथा वोकेशनल कोर्स के लिए सरकार द्वारा पढ़ाई तथा हॉस्टल का खर्चा वहन किया जाएगा।

हिमाचल : ज्यादा ठंडा क्यों रहा शनिवार, रविवार को भी सताएगी ठंड- यह है कारण

 

उन्होंने कहा कि जिला स्तर पर निराश्रित बच्चों की मदद के लिए जिला स्तर पर मुख्यमंत्री आश्रय कोष का प्रावधान किया गया है। इसके तहत कांगड़ा केंद्रीय सहकारी बैंक धर्मशाला में खाता संख्या 50076640270 के माध्यम से कोई भी व्यक्ति स्वेच्छा से अंशदान कर सकता है। इसमें 80 जी के तहत टैक्स में भी छूट रहेगी। इस कोष के माध्यम से निराश्रित बच्चों के लिए बेहतरीन सुविधाएं उपलब्ध करवाई जाएंगी।

बद्दी आग मामला : चार लोगों ने कंपनी प्रांगण तक लड़ी मौत से जंग-जीत न सके

 

उन्होंने बताया कि विधायक सुधीर शर्मा सोमवार को धर्मशाला के लायंस क्लब में बेटी बचाओ बेटी पढ़ाओ अभियान, शगुन योजना तथा मुख्यमंत्री कन्यादान योजना के तहत लाभार्थियों को चेक वितरित करेंगे।

कांगड़ा : राशनकार्ड को आधार से जोड़ने की तिथि बढ़ी- जानिए नई डेट

 

जेएनवी पपरोला में 9वीं और 12वीं कक्षा लेटरल चयन परीक्षा को लेकर अपडेट 

 

बद्दी मामला : मुकेश अग्निहोत्री बोले, कंपनी की आपराधिक लापरवाही के कारण हुई घटना 

हिमाचल : वेब पोर्टल में पैनल के लिए पत्रकारिता व जनसंचार में डिप्लोमा, स्नातक डिग्री जरूरी

हिमाचल प्रदेश डिजिटल मीडिया पॉलिसी-2024 अधिसूचित, डिटेल में जानें

हिमाचल : विक्रमादित्य को शहरी विकास विभाग का भी जिम्मा, धर्माणी को TCP

HRTC का प्लान 350….ड्राइवर, कंडक्टर की होगी भर्ती, आएंगी इलेक्ट्रिक बसें

हिमाचल प्रदेश विधानसभा सचिवालय में नौकरी का मौका : भरे जाएंगे ये 34 पद

बद्दी परफ्यूम फैक्ट्री मामला : लापता लोगों की लिस्ट जारी, चंबा जिला से एक महिला

शिमला : एक दिन की ब्रेक के बाद फिर बर्फबारी शुरू, रिज पर झूमे पर्यटक

Categories
TRENDING NEWS Top News Lifestyle/Fashion Himachal Latest Shimla Kangra State News

हिमाचल के प्रोफसर सोमदत्त बट्टू पद्मश्री से नवाजे जाएंगे, सीएम सुक्खू ने दी बधाई

राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू के हाथों मिलेगा सम्मान

शिमला। हिमाचल प्रदेश के शिमला जिला के रहने वाले प्रोफसर सोमदत्त बट्टू को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किया जाएगा। लोक संगीत और शास्त्रीय गायन में असाधारण योगदान देने वाले 87 वर्षीय प्रोफसर सोमदत्त बट्टू पद्मश्री से नवाजे जाएंगे। राष्ट्रपति द्रौपदी मुर्मू उन्हें यह सम्मान प्रदान करेंगी।

हमीरपुर से वृंदावन के लिए HRTC बस सेवा शुरू, जानिए रूट और समय

 

यह प्रोफेसर पट्टू ही नहीं, बल्कि पूरे हिमाचल प्रदेश के लिए गौरव का विषय है। पद्म पुरस्कारों की घोषणा गुरुवार को की गई है। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू प्रोफसर सोमदत्त बट्टू को बधाई दी है।

मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने लिखा, “गर्व का विषय है कि गणतंत्र दिवस के अवसर पर हिमाचल के संगीत सितारे प्रोफेसर सोमदत्त बट्टू को पद्मश्री पुरस्कार से सम्मानित किए जाने की घोषणा की गई है।

पद्मश्री से सम्मानित प्रो. सोमदत्त बट्टू को हार्दिक बधाई। पूरे हिमाचल को आप पर गर्व है। शास्त्रीय और लोकगीत के प्रति आपकी सेवाएं सभी संगीत प्रेमियों के लिए प्रेरणा का स्त्रोत है।”

देहरा : ब्यास पुल पर ट्रक ने कार को मारी टक्कर, पति-पत्नी की गई जान

 

बता दें, प्रोफसर सोमदत्त बट्टू को इससे पहले साल 2019 में संगीत नाटक अकादमी पुरस्कार भी मिल चुका है। पटियाला घराने से संबंध रखने वाले बट्टू ने देश के कई राज्यों और कई अन्य देशों में जाकर लोकगीत और शास्त्रीय गायन से धूम मचाई है।

उन्होंने अमेरिका, नाइजीरिया, वेस्ट इंडीज, पाकिस्तान और केन्या सहित अन्य देशों में कार्यक्रम किए हैं। 40 साल तक उन्होंने बतौर संगीत प्रवक्ता अपनी सेवाएं दीं।

शिमला : बच्ची का इलाज करवा घर लौट रहा था परिवार, हादसे ने छीन ली दादा-पोती की जान

 

प्रोफेसर सोमदत्त बट्टू शिमला के ब्योलिया के रहने वाले हैं। उनका का जन्म 5 जुलाई, 1937 को कांगड़ा के जसूर में हुआ था। यहां उनका ननिहाल है। प्रोफेसर बट्टू के पिता राम लाल बट्टू प्रसिद्ध श्याम चौरसिया घराने से संबंधित थे। उन्होंने संगीत सीखने की शुरुआत अपने घर से ही की थी।

हिमाचल में करवट लेने वाला है मौसम : आगामी चार दिन तक बारिश-बर्फबारी के आसार

 

सोमदत्त शिमला के राजीव गांधी डिग्री कॉलेज से संगीत के प्राध्यापक के तौर पर सेवानिवृत हुए। साल 2016 में हिमाचल प्रदेश सरकार ने इन्हें हिमाचल गौरव से सम्मानित किया था। साल 2015 में प्रोफेसर बट्टू को पंजाबी संगीत रत्न अवार्ड भी दिया गया था।प्रोफेसर बट्टू का योगदान संगीत के क्षेत्र में असाधारण है।

 

 

शिमला रिज पर मनाया गया राज्य स्तरीय गणतंत्र दिवस, राज्यपाल ने फहराया तिरंगा

हिमाचल पुलिस के ASI नरेश कुमार को मिला उत्तम जीवन रक्षा पदक-ठाकुरद्वारा के हैं रहने वाले

धर्मशाला वृत्त वन मित्र भर्ती : फिजिकल टेस्ट की तिथि घोषित, इस दिन होंगे

HPBOSE : 10वीं और 12वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षाओं की डेटशीट जारी, यहां पढ़ें
हिमाचल पूर्ण राज्यत्व दिवस : धर्मपुर में मुख्यमंत्री सुक्खू ने दी ये सौगात, की बड़ी घोषणाएं

सोलन के नामी ठेकेदार के बेटा-बेटी की फिलिप आइलैंड पर डूबने से गई जान

सिरमौर : जबडोग के पास खाई में गिरी कार, नौहराधार के पूर्व सैनिक की गई जान

Categories
Top News Lifestyle/Fashion KHAS KHABAR State News

शरीर की सारी नसें पलभर में खोल देगा ये घरेलु उपाय, माइग्रेन में भी मिलेगी राहत

आज के समय में कई तरह की बीमारियों से लोग परेशान रहते हैं। इनमें से एक है नसों में दर्द। बहुत से लोगों को हाथ–पैर में होने वाली झनझनाहट की समस्या होती है या कमर, गर्दन व रीड़ की हड्डी (मणके) में कोई नस दबी या अकड़ जाती है। इन सब समस्याओं के लिए डॉक्टर के पास जाने से पहले अगर कुछ घरेलु उपाय कर लिया जाए तो आराम मिल सकता है।

इसके लिए आपको ज्यादा सामान की जरूरत भी नहीं है। आपको चाहिए सिर्फ कपूर और नींबू। जी हां, सिर्फ इन दो चीजों से आपका दर्द गायब हो सकता है। कैसे, ये आपको बताते हैं विस्तार से …

हिमाचल पुलिस कांस्टेबल भर्ती : RTC के बाद चार सप्ताह का होगा स्पेशल कमांडो कोर्स

 

दिन में सिर्फ एक बार यह साधारण सा घरेलु उपाय करके देखिए, सिर के बाल से पैर की उंगली तक सारी नसें मुक्त होने का आपको स्पष्ट अनुभव होगा। सिर से पैर तक एक तरह से करंट का अनुभव होगा, आपके शरीर की नसें मुक्त होने का स्पष्ट अनुभव होगा।

हिमाचल : क्या बरसात में ही कोटा खत्म, सर्दी में अब तक 100 फीसदी कम बारिश 

 

हाथ-पैर में होने वाली झनझनाहट (खाली चढ़ना) तुरंत बंद हो जाती है। पुराना घुटनों का दर्द और कमर, गर्दन या रीड की हड्डी (मणके) में कोई नस दबी या अकड़ गई है तो वह पूरी तरह से ठीक हो जाएगी, पुराना एड़ी का दर्द भी ठीक हो जाएगा।

इस उपाय से बहुत से लोगों के लाखों रुपए बच सकते हैं। साथ ही इस उपाय का फायदा ये है कि इससे पैर में फटी एड़ियां और डेड स्किन रिमूव हो जाती है और आपके पैर भी कोमल हो जाते हैं।

विक्रमादित्य बोले- म्यान से तलवारें निकाली भी जाएंगी और लहूलुहान भी किया जाएगा
इस तरह करें ये घरेलु उपाय –

इस उपाय को करने के लिए डेढ़ से दो लीटर गुनगुना पानी लें, जिसका तापमान पैर को सहन होने जितना गरम हो, उसमें आधे नींबू का रस निचोड़े और फिर नींबू को भी उस पानी में डाल दें। दूसरी चीज कपूर है-कोई भी कपूर हो।

कपूर की तीन गोलियां बारीक पीस कर उसका पाउडर बना लें, यह भी उस पानी में मिला लें, फिर पांच से दस मिनट तक पैरों को इस पानी में डाल कर रखें। जैसे ही आप पैरों को पानी में डालेंगे, तो आपको इससे सिर से पैर तक एक तरह से करंट का अनुभव होगा।

वायु सेना अग्निवीर भर्ती, वोकेशनल कोर्स करने वाले युवा भी होंगे पात्र-जानें डिटेल 

 

आपके सिर के बालों से पैर तक की सारी नसें मुक्त होने का स्पष्ट रूप से अनुभव होगा। इसका कारण यह है कि हमारे पैरों में 172 प्रकार के प्रेशर पॉइंट होते हैं, जो हमारे शरीर की सभी नसों के साथ जुड़े होते हैं।

यह नींबू और कपूर वाला गुनगुना पानी इन 172 प्रकार के प्रेशर पॉइंट्स को मुक्त कर देता है और इससे शरीर की सारी नसें एकदम से री एक्टिवेट हो जाती हैं और पूरी तरह से मुक्त हो जाती हैं, ऐसा अनुभव होता है।

हिमाचल : सड़कों से बर्फ हटाने का तगड़ा जुगाड़, भ्रष्टाचार भी होगा खत्म 

 

इस उपाय में सिर्फ पांच से दस मिनट तक इस पानी में पैर डाल कर रखने हैं और यह दिन में कभी भी सुबह या शाम को कर सकते हैं। इससे हाथ, पैर में होने वाली झनझनाहट (खाली चढ़ना) बंद हो जाती हैं और कोई नस दबी या अकड़ गई हो तो वह खुल जाएगी और सिरदर्द भी इस उपाय से बंद हो जाता है।

जिन लोगों को माइग्रेन की तकलीफ हो वह भी पानी में पैर रखने के साथ ही बंद हो जाएगी। अगर स्नायु अकड़ गए हों या शरीर दर्द कर रहा हो तो यह उपाय करके देखिए।

इसका कोई साइड इफेक्ट नहीं है और यह उपाय सरल रूप से किया जा सकता है। यह उपाय पांच दिन करना है। यह उपाय देखने में सरल लगता है लेकिन इसका रिजल्ट बहुत ही अच्छा और असरदार होता है।

हिमाचल केंद्रीय विश्वविद्यालय सहित 6 यूनिवर्सिटी में नॉन टीचिंग भर्ती, परीक्षा योजना जारी

Job Alert कांगड़ा : सुरक्षा गार्ड-सुरक्षा सुपरवाइजर के 150 पदों पर भर्ती, 19500 तक वेतन

हिमाचल : पर्यटन होटलों व विश्राम गृहों को लेकर बड़ी अपडेट-मुख्यमंत्री के निर्देश

मंडी में सिक्योरिटी गार्ड के 120 पदों के लिए होंगे साक्षात्कार, कहां होंगे डिटेल में जानें

हिमाचल में लेक्चरर स्कूल न्यू भर्ती के लिए पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न जारी
सोलन : बेरोजगार युवाओं के लिए नौकरी का मौका, 11250 से लेकर 45 हजार तक सैलरी

नूरपुर : चिट्टा तस्कर पर बड़ी कार्रवाई, हिमाचल में पहली बार हुआ ऐसा-पढ़ें खबर
हिमाचल में इलेक्ट्रीशियन, फिटर, प्लंबर, मल्टी पर्पस वर्कर के 9 हजार पदों पर होगी भर्ती

चंबा : सिक्योरिटी गार्ड, सुपरवाइजर व HR के 274 पदों पर भर्ती, इंटरव्यू कल से शुरू
हिमाचल में लेक्चरर स्कूल न्यू भर्ती के लिए पाठ्यक्रम और परीक्षा पैटर्न जारी

हिमाचल में प्राइवेट जॉब के लिए eemis पोर्टल पर कैसे करें पंजीकरण और आवेदन-जानें
Categories
Top News Lifestyle/Fashion Himachal Latest KHAS KHABAR Kangra State News

कांगड़ा : कृषि के साथ आर्थिकी भी मजबूत कर रहीं वीरता की महिलाएं

स्वयं सहायता समूह बनाकर हो रहीं आत्मनिर्भर

कांगड़ा। हिमाचल के कांगड़ा शहर के साथ लगती पंचायत वीरता की महिलाएं कृषि के साथ आर्थिकी को भी मजबूत कर रही हैं। स्वयं सहायता समूह बनाकर आत्मनिर्भर बन रही हैं।

शिमला : सेल्स ऑफिसर के पदों के लिए होंगे साक्षात्कार, 20800 व 32900 रुपए मिलेगी सैलरी

 

बता दें कि कृषि विभाग के तहत वीरता की महिलाओं ने तारा भवानी स्वयं सहायता समूह का गठन किया। समूह में अभी 22 महिलाएं हैं। स्वयं सहायता समूह की प्रधान रमता देवी हैं। सचिव सुमना देवी और कोषाध्यक्ष शारदा देवी हैं।

तारा भवानी स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को कृषि विभाग की तरफ से खेतीबाड़ी से जुड़े प्रशिक्षण दिए जाते हैं। बीज, ड्रम और अन्य कृषि उपकरण भी दिए जाते हैं।

हिमाचल में इलेक्ट्रीशियन, फिटर, प्लंबर, मल्टी पर्पस वर्कर के 9 हजार पदों पर होगी भर्ती

 

खाद बनाने का प्रशिक्षण भी महिलाओं को दिया जाता है। इससे हटकर महिलाओं ने आर्थिकी मजबूत करने के लिए भी योजना बनाई है।

महिलाओं ने बैंक में तीन साल की एक आरडी चलाई है। प्रत्येक महिला हर माह 110 रुपए का योगदान देती है। 22 महिलाओं के हिसाब से 2420 रुपए इकट्ठे होते हैं। इन पैसों को आरडी में डाला जाता है।

 

सरकाघाट-जमणी रूट पर जा रही HRTC की बस सड़क पर पलटी, चार यात्री घायल

 

तीन साल बाद आरडी मैच्योर होने पर इकट्ठा पैसा मिलने पर महिलाएं पैसे को आपस में बांट लेती हैं और अपनी जरूरत के हिसाब से खर्च करती हैं।

यही नहीं आरडी का महिलाओं को एक और भी बड़ा फायदा है। आरडी के एवज में स्वयं सहायता समूह की महिलाएं कोई बिजनेस जैसे अचार बनाना, मशरूम की खेती आदि के लिए लोन भी ले सकती हैं।

हिमाचल प्रदेश केंद्रीय विश्वविद्यालय नॉन टीचिंग स्टाफ भर्ती को लेकर अपडेट

 

महिलाओं का कहना है कि स्वयं सहायता समूह से काफी लाभ मिलते हैं। बीज आदि मिलते हैं। खाद बनाने की भी जानकारी दी जाती है। प्राकृतिक खेती की जानकारी दी जाती है।

आरडी भी चलाई है। तीन साल बाद मैच्योर होने पर पैसों को आपस में बांट लेती हैं और अपनी जरूरत से हिसाब के चीजें खरीद लेती हैं।

हमीरपुर : बिना नोटिस दिए घर को तोड़ा, फिर सेप्टिक टैंक खुला छोड़ा- हो कड़ी कार्रवाई 

 

HPBOSE : 9वीं और 11वीं की वार्षिक परीक्षा प्रश्न पत्र डिमांड को लेकर बड़ी अपडेट

कांगड़ा : तिरंगे में लिपटा आया लाल, मां ने दूल्हे की तरह सजाकर दी अंतिम विदाई

हिमाचल कैबिनेट बैठक : नए साल के पहले दिन 3 बड़े तोहफे, बेरोजगार युवाओं को बड़ी राहत

चंबा : सिक्योरिटी गार्ड, सुपरवाइजर और HR के 274 पदों पर होंगे साक्षात्कार

भारतीय वायुसेना में अग्निवीर बनने का मौका : 17 मार्च को परीक्षा, इस दिन से शुरू होंगे आवेदन

Job : हिमाचल प्रदेश लोक सेवा आयोग ने इन पदों पर निकाली भर्ती-जानें

कांगड़ा में 0 से 5 वर्ष के 38 हजार बच्चों के नहीं बने आधार कार्ड, चलेगा विशेष अभियान
हिमाचल में प्राइवेट जॉब के लिए eemis पोर्टल पर कैसे करें पंजीकरण और आवेदन-जानें