Categories
Top News Crime Una State News

शादी के तीसरे ही दिन दहेज के लिए प्रताड़ित करने लगे ससुराल वाले, पति ने भी की मारपीट

ऊना जिला में विवाहिता ने ससुराल वालों पर लगाए आरोप, केस दर्ज

ऊना। जिला ऊना के सनोली गांव की एक विवाहिता ने ससुराल वालों पर दहेज के लिए प्रताड़ित करने का आरोप लगाया है। विवाहिता ने पुलिस को दी शिकायत में बताया कि उसकी शादी 9 दिसंबर, 2020 को कांगड़ा जिला की जसवां तहसील के पट्टी गांव निवासी पंकज कुमार पुत्र पवन कुमार के साथ हुई थी। शादी के तीसरे ही दिन जब पीड़िता के मायके वाले ससुराल पहुंचे तो ससुर और ननद ने विवाहिता और उसके परिजनों को दहेज और कैश ना देने के लिए ताने मारने शुरू कर दिए। इसके बाद से ससुराल वालों ने पीड़िता को और दहेज लाने के लिए तंग करना शुरू कर दिया।

यह भी पढ़ें :- किराने की दुकान में छिपा रखी थी चरस, पुलिस ने रेड मार कर पकड़ा दुकानदार

पीड़िता इस दौरान चुप रही। इसी बीच पीड़िता गर्भवती हो गई जिसके चलते वह ज्यादा काम नहीं कर पाती थी। एक रात उसका देवर पति की अनुपस्थिति में उसके कमरे में घुसा और उसे बाजू से पकड़ कर घसीटता हुआ खाना बनाने के लिए रसोई की तरफ ले गया। इसके बाद एक रात उसका ससुर भी उसके कमरे में घुस आया और पीड़िता के चरित्र पर सवाल उठाते हुए उसे बेहद अश्लील और भद्दी गालियां देना शुरू कर दिया। पीड़िता का पति बद्दी स्थित कंपनी में काम करता है। वह जब घर आया तो पत्नी ने उसको सारी बताई। इस पर पत्नी का साथ देने की बजाय उसने उसके साथ मारपीट शुरू कर दी।

यह भी पढ़ें :- मां चिंतपूर्णी के दर्शनों को जा रहे श्रद्धालुओं को टिप्पर ने कुचला, एक की मौत, एक गंभीर

31 जनवरी, 2021 को पीड़िता का भाई और उसकी भाभी उसको लेने ससुराल पहुंचे। मायके आने के बाद पीड़िता का उपचार पंजाब के नंगल में स्थित एक निजी अस्पताल में करवाया गया। ससुराल वालों के व्यवहार से तंग आई विवाहिता ने 26 मई, 2021 को महिला थाना में शिकायत दी। महिला के शिकायत देते हैं ससुराल वाले फौरन उसे वापस लेने पहुंच गए और आगे से उसके साथ गलत व्यवहार ना करने की बात भी कही, लेकिन ससुराल लौटते ही पीड़िता के साथ फिर से वही व्यवहार शुरू हो गया।

पीड़िता की सास और ननद ने गर्भावस्था के दौरान उसे धक्के देकर गिराया भी और उसका गला तक घोंटने की कोशिश की। जब विवाहिता ने अपने मायके वालों को फोन करने का प्रयास किया तो उसके पति ने फोन छीन लिया। मायके वालों ने संबंधित पंचायत के प्रधान को फोन करके अपने आने की सूचना दी। 11 जुलाई को जब पीड़िता के मायके वाले ससुराल पहुंचे तो पीड़िता का पति, उसके दोनों देवर और ससुर लाठियां लेकर उनको मारने पर उतारू हो गए। पीड़िता ने पुलिस से इंसाफ की गुहार लगाई है। डीएसपी हेडक्वार्टर कुलविंदर सिंह ने मामले की पुष्टि की है। पीड़िता के ससुर पवन कुमार, सास विजय कुमारी, पति पंकज कुमार, देवर अरुण कुमार, मनीष कुमार और ननद पूजा के खिलाफ पुलिस ने केस दर्ज कर मामले की जांच शुरू कर दी है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए facebook page like करें 

Leave a Reply

Your email address will not be published.