Categories
Top News Shimla State News

बाहरा यूनिवर्सिटी में नई पहल, शिक्षक सीखेंगे नए गुर-छात्रों को होगा लाभ

कार्यशाला का आगाज, स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने किया शुभारंभ
सोलन। हिमाचल के सोलन जिला के कंडाघाट स्थित स्थित बाहरा यूनिवर्सिटी में विज्ञान व गणित अध्यापकों की क्षमता निर्माण के लिए दो दिवसीय कार्यशाला का आगाज हुआ। साथ ही विश्वविद्यालय द्वारा ‘कीप हिमाचल क्लीन एंड ग्रीन’ कार्यक्रम का शुभारंभ भी किया। इस अवसर पर हिमाचल के स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल मुख्यातिथि रहे। बाहरा विश्वविद्यालय के सभागार में शिक्षा विभाग द्वारा जिला सोलन और शिमला के विज्ञान व गणित शिक्षकों के लिए दो दिवसीय क्षमता निर्माण पर कार्यशाला का आयोजन किया गया। इस कार्यशाला का मुख्य उद्देश्य खेल-खेल में छात्रों को गणित व साइंस का ज्ञान देना है।

कार्यशाला के शुभारंभ पर स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने बाहरा यूनिवर्सिटी द्वारा एक वर्ष तक चलाए जाने वाले कीप हिमाचल क्लीन एंड ग्रीन कार्यक्रम का भी शुभारंभ किया। स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने उपस्थित शिक्षकों को संबोधित करते हुए कहा कि वह प्राचीन भारत की शिक्षा पद्धति पर भी विचार करें। इससे प्राचीन शिक्षा पद्धति से भी छात्रों को ज्ञान मिल सके। पत्रकारों से बातचीत में स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल ने कहा कि इस कार्यशाला से अध्यापकों को बहुत कुछ नया सीखने को मिलेगा। इसका लाभ सीधे तौर पर छात्रों को होगा। छात्रों की गणित व साइंस विषयों में रूचि बढ़ेगी। उन्होंने कहा कि प्रकृति को बचाना समय की मांग है। यदि पर्यावरण से छेड़छाड़ की गई तो इसका नुकसान मानव जाति को ही उठाना होगा।

सैजल ने राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला दाड़लाघाट के शिक्षक तेजेंद्र शर्मा तथा जिला विज्ञान पर्यवेक्षक सोलन अमरीश शर्मा द्वारा लिखित पुस्तक ‘वाइब्रेन्ट साइंस क्विज’ का विमोचन भी किया। यह पुस्तक छठी कक्षा से 12वीं कक्षा के छात्रों को प्रशनोत्तरी प्रतियोगिताओं की तैयारी में सहायता प्रदान करेगी।

Leave a Reply

Your email address will not be published.