Categories
Top News SPORTS NEWS State News

रिलायंस इंडस्ट्रीज ने एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के साथ मिलाया हाथ

भारतीय एथलीटों के समग्र विकास की करेंगे पूरी कोशिश

मुंबई। रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड (आरआईएल) और एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया (एएफआई) ने भारत में एथलेटिक्स को बढ़ावा देने के लिए एक दीर्घकालिक साझेदारी की घोषणा की है। रिलायंस फाउंडेशन और एएफआई की भागीदारी वर्षों पुरानी है। रिलायंस के प्रमुख प्रायोजक बनने के साथ ही दोनों संगठनों के बीच साझेदारी और गहरी होगी।

हिमाचल कैबिनेट: भरे जाएंगे ये 1,380 पद, मानसून सत्र पर भी फैसला

साझेदारी का उद्देश्य देश भर से भारतीय एथलीटों की खोज, पोषण और विकास करना और उन्हें विश्वस्तरीय सुविधाएं, कोचिंग और खेल विज्ञान और चिकित्सा सहायता प्रदान करना है। इसके लिए रिलायंस फाउंडेशन ईको-सिस्टम का लाभ उठा जाएगा। इसमें उड़ीसा रिलायंस फाउंडेशन एथलेटिक्स हाई-परफॉर्मेंस सेंटर और सर सहित एचएन रिलायंस फाउंडेशन अस्पताल शामिल हैं।

आरडी धीमान बने हिमाचल के नए मुख्य सचिव, रामसुभग सहित 3 IAS बनाए एडवाइजर

संगठन के दृष्टिकोण के अनुरूप, इस साझेदारी में महिला एथलीटों पर विशेष ध्यान दिया जाएगा। इसका उद्देश्य लैंगिक विभाजन को पाटना और महिला एथलीटों के सपनों को साकार करना है। प्रमुख राष्ट्रीय, अंतर्राष्ट्रीय प्रतियोगिताओं और प्रशिक्षण शिविरों में, एएफआई के प्रमुख प्रायोजक के रूप में, रिलायंस ब्रांड राष्ट्रीय टीम की जर्सी और प्रशिक्षण किट पर दिखाई देगा।

हिमाचल कैबिनेट : भरे जाएंगे क्लर्क और जूनियर स्केल स्टेनोग्राफर के 51 पद 

आईओसी की सदस्य और रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड की निदेशक नीता एम. अंबानी ने कहा, “हमें खुशी हैं कि रिलायंस फाउंडेशन और एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया की साझेदारी का विस्तार हो रहा है। एथलेटिक्स वैश्विक स्तर पर सबसे लोकप्रिय खेलों में से एक है और इस एसोसिएशन का उद्देश्य लड़कियों पर विशेष ध्यान देने के साथ, हमारी युवा प्रतिभाओं को अवसर और विश्व स्तरीय सुविधाएं प्रदान करके भारतीय एथलेटिक्स के विकास में तेजी लाना है।

हिमाचल कैबिनेट: भरे जाएंगे ये 1,380 पद, मानसून सत्र पर भी फैसला

खिलाड़ियों को बेहतर बुनियादी ढांचे तक पहुंच, प्रशिक्षण और सपोर्ट मिलेगा, तो मुझे यकीन है कि हम दुनिया भर में अपने कई और युवा एथलीटों को खेल के मैदान में जीतता देखेंगे! यह साझेदारी भारत में ओलंपिक आंदोलन को मजबूत करने के हमारे सपने की दिशा में एक महत्वपूर्ण कदम है।“

पावन महीना सावन शुरू : विधि विधान से करेंगे भोलेनाथ का पूजन तो दूर होंगे सभी कष्ट

एथलेटिक्स फेडरेशन ऑफ इंडिया के अध्यक्ष आदिल सुमरिवाला ने कहा, “हम श्रीमती नीता अंबानी, रिलायंस इंडस्ट्रीज और प्रमुख भागीदार के रूप में उनके समर्थन के बहुत आभारी हैं। एएफआई पिछले कुछ वर्षों से उनके साथ मिलकर काम कर रहा है। अंतरराष्ट्रीय आयोजनों में हमने भारतीय एथलेटिक्स दल को बड़ा होते हुए देखा है।

आनी: भारी बारिश बनी श्रीखंड यात्रा में बाधा, नाले में मलबा-दो वाहन क्षतिग्रस्त

हमें पूरा यकीन है कि रिलायंस इंडस्ट्रीज जैसे प्रतिबद्ध भागीदार के साथ, जल्द ही हम एथलेटिक्स के कई खेलों में भागीदारी बढ़ने के साथ अंतर्राष्ट्रीय सफलता में भी तेज वृद्धि देखेंगे। यह साझेदारी समग्र विकास पर ध्यान केंद्रित करेगी, एक मजबूत टैलेंट पूल और संभावित पदक विजेताओं को तैयार करेगी जो आने वाले वर्षों में भारत को गौरवान्वित करेंगे। ”

मंडी में हादसा – पहाड़ी से टकराई HRTC की बस, 11 लोग घायल

रिलायंस फाउंडेशन की एथलेटिक्स यात्रा:

एथलेटिक्स के विकास के लिए रिलायंस फाउंडेशन ने 2017 से रिलायंस फाउंडेशन यूथ स्पोर्ट्स प्रोग्राम चला रही है, जो देश भर के 50 से अधिक जिलों में 5,500 से अधिक शैक्षणिक संस्थानों तक पहुंच गया है। रिलायंस फाउंडेशन ने 2018 में उड़ीसा सरकार के साथ साझेदारी में उड़ीसा रिलायंस फाउंडेशन एथलेटिक्स हाई परफॉर्मेंस सेंटर की स्थापना की। इस जगह ने कई राष्ट्रीय और अंतर्राष्ट्रीय पदक विजेता और राष्ट्रीय रिकॉर्ड धारक दिए हैं।

 

हाल ही में, ज्योति याराजी (सीडब्ल्यूजी 2022 में भारत का प्रतिनिधित्व) और अमलान बोरगोहाई ने लंबे समय से चले आ रहे राष्ट्रीय रिकॉर्ड तोड़े हैं। रिलायंस फाउंडेशन भी खेल विज्ञान और चिकित्सा सहायता के साथ एएफआई को सपोर्ट कर रहा है। रिलायंस फाउंडेशन के फिजियोथेरेपिस्ट भारतीय दल के साथ 2020 टोक्यो ओलंपिक में शामिल हुए थे।

 

रिलायंस फाउंडेशन, भारत के अगले चैंपियन का निर्माण करने, प्रोत्साहित करने और उन्हें सक्षम बनाने के लिए एएफआई सहित कई भागीदारों के साथ मिलकर काम कर रहा है। भविष्य के चैंपियन के लिए फाउंडेशन बुनियादी ढांचे में सुधार, कौशल विकास, डिजिटल सशक्तिकरण के माध्यम से एक मजबूत ईको सिस्टम तैयार कर रहा है। नीता एम. अंबानी भारत के ओलंपिक आंदोलन का नेतृत्व कर रही हैं और भारत में अगली पीढ़ी के लिए खेल के अवसर प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। 2016 से आईओसी सदस्य के रूप में उन्होंने खेलों को बदलने और ओलंपिक आंदोलन के साथ जुड़ने के भारत के प्रयासों को मजबूती दी है। उन्होंने उस भारतीय प्रतिनिधिमंडल का नेतृत्व किया था जिसने मुंबई में 140 वें आईओसी सत्र 2023 की मेजबानी के लिए बोली जीती थी।

रिलायंस फाउंडेशन स्पोर्ट्स के बारे में:

आनंद, स्वास्थ्य, धैर्य, दृढ़ संकल्प, जीत और हार का जश्न मनाता है रिलायंस फाउंडेशन और यह सुनिश्चित करने की कोशिश करता है कि समाज के सभी वर्गों के अधिक से अधिक बच्चे और युवा खेल खेल सकें। इस प्रक्रिया में एक फिट, मजबूत और सक्रिय भारत का निर्माण हो सके। हमने 2013 से देश भर में 13,000 से अधिक स्कूलों और कॉलेजों के 2 करोड़ 15 लाख से अधिक युवाओं के जीवन को छुआ है। जिससे कई प्रतिभाशाली बच्चों का खेल में करियर बनाने का सपना पूरा हुआ है।

 

हम विशेष रूप से भारत में लड़कियों और महिला एथलीटों की अधिक उपस्थिति और सफलता सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमने अपने कार्यक्रमों को इस तरह से डिजाइन किया है कि उन्हें अधिकतम अवसर मिल सके। रिलायंस फाउंडेशन में हम भारतीय खिलाड़ियों को एक नई उड़ान भरने में मदद करते हैं ताकि वे अपनी वास्तविक क्षमता को पहचान सकें।

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें