Categories
Top News SPORTS NEWS

टोक्यो ओलंपिक में भारत का पहला गोल्ड, जैवलिन थ्रो में नीरज चोपड़ा ने रचा इतिहास

देश के लिए गोल्ड जीतने वाले पहले एथलीट बने नीरज

नई दिल्ली। टोक्यो ओलंपिक में आखिर भारत को गोल्ड मिल ही गया। 23 वर्षीय युवा जैवलिन थ्रोअर (भाला फेंक एथलीट) नीरज चोपड़ा ने इतिहास रच दिया। भारत के ओलंपिक इतिहास में पहली बार नीरज चोपड़ा के रूप में किसी एथलीट ने जैवलिन थ्रो प्रतियोगिता में गोल्ड मेडल जीता है। इस खेल में नीरज से पहले किसी भी एथलीट के नाम ये कामयाबी नहीं हुई। नीरज देश के लिए गोल्ड जीतने वाले पहले एथलीट बन गए हैं। पूरा देश इस समय नीरज को बधाई दे रहा है और देश में गोल्ड आने का जश्न मना रहा है।

टोक्यो ओलंपिक में भारत का पांचवा मेडल, पहलवान रवि कुमार दहिया ने जीता सिल्वर

फाइनल राउंड में नीरज चोपड़ा ने कमाल कर दिया और ट्रैक एंड फील्ड स्पर्धा में ये मुकाम हासिल करने वाले पहले भारतीय बने। नीरज से पहले शूटर अभिनव बिंद्रा ने ये कमाल 2008 बीजिंग ओलंपिक में 10 मीटर एयर राइफल में किया था। नीरज चोपड़ा ने टोक्यो ओलंपिक के सफर की शुरुआत शानदार तरीके से की थी। उन्होंने अपने पहले ही प्रयास में 86.65 मीटर भाला फेंका था जबकि क्वालिफाई के लिए 83.50 मीटर की सीमा तय की गई थी। नीरज ग्रुप ए में टॉप पर रहे थे और फाइनल में पहुंचे थे। वहीं ग्रुप बी में पाकिस्तान के अरशद नदीम ने 85.16 मीटर भाला फेंका था और अपने ग्रुप (बी) में तीसरे नंबर पर रहे थे। दोनों ग्रुप मिलाकर कुल 12 खिलाड़ियों ने फाइनल में जगह बनाई थी।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए facebook page like करें 

Leave a Reply

Your email address will not be published.