Categories
Top News Himachal Latest Shimla State News

मानसून सत्र : कोरोना ने 18 बच्चों से छीन ली मां की गोद और पिता का साया

कोरोना में हिमाचल में 18 बच्चे अनाथ हुए हैं

शिमला। कोरोना महामारी के दौरान पिछले दो साल में 30 जून 2021 तक 18 बच्चे अनाथ हुए हैं। इसमें मंडी जिला में 5, कांगड़ा व ऊना में 4-4, हमीरपुर में तीन, सिरमौर और सोलन में एक-एक बच्चा अनाथ हुआ है। यह जानकारी हिमाचल विधानसभा के मानसून सत्र में ज्वालामुखी के विधायक रमेश धवाला के लिखित प्रश्न के जवाब में सामाजिक न्याय एवं अधिकारिता मंत्री सरवीण चौधरी ने दी है।

हिमाचल में इस माह अब तक कोरोना के कितने केस और कितनों की गई जान- जानें

जवाब में बताया गया कि कोरोना से अनाथ हुए बच्चों को सरकार द्वारा विस्तारित या असंबंधित परिवार या रिश्तेदारों के पास पालन-पोषण के लिए फोस्टर केयर में रखा जा रहा है। इन बच्चों के पालन पोषण के लिए चार हजार रुपए की राशि प्रतिमाह (प्रति बालक/बालिका) की दर से स्वीकृत की जा रही है। इसमें 2,500 रुपए प्रतिमाह की दर से पालक माता-पिता को बच्चे के पालन पोषण के लिए तथा 1,500 रुपए प्रतिमाह की दर से एफडी/आरडी में जमा की जा रही है।

हिमाचल : आज कोरोना का आंकड़ा 400 पार, एक जिले में शतक

अगर अनाथ बच्चे के पालन-पोषण के लिए पालक दंपति/माता-पिता इच्छुक नहीं पाए जाते तो उस बच्चे को बाल देखभाल संस्थानों में प्रवेश देने का प्रावधान है, जहां उसकी 18 वर्ष तक मुफ्त शिक्षा व रहन-सहन का पूरा व्यय सरकार द्वारा वहन किया जाएगा।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए facebook page like करें

Leave a Reply

Your email address will not be published.