Categories
Top News Himachal Latest Shimla Solan State News

जासूसी मामले में हिमाचल कांग्रेस लाल, मोदी और शाह का मांगा इस्तीफा

सुप्रीम कोर्ट के सिटिंग जज से मामले की जांच करवाने की मांग

शिमला। पेगासस जासूसी के विरोध में कांग्रेस ने हिमाचल में हल्ला बोला। कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर के नेतृत्व में आज पेगासस जासूसी के विरोध में केंद्र की मोदी सरकार के खिलाफ राजभवन तक कांग्रेस ने एक जलूस मार्च किया। पार्टी नेताओं ने केंद्र सरकार की कड़ी आलोचना करते हुए कहा है कि केंद्र ने देश के लोकतंत्र और इसकी मर्यादायों को तार-तार कर दिया है। जासूसी कांड के खुलासे के बाद अब मोदी सरकार पूरी तरह बेनकाब हो गई है। उन्होंने इस पूरे मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी व गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग करते हुए इसकी जांच सुप्रीम कोर्ट के किसी सिटिंग जज से करवाने की मांग भी की है।

राजभवन के बाहर जासूसी कांड के विरोध में बोलते हुए कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि इस शर्मसार घटना ने सिद्ध कर दिया है कि भाजपा का नैतिक पतन हो चुका है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस के पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गांधी और अन्य महत्वपूर्ण लोगों के फ़ोन टेप जासूसी कर मोदी सरकार ने किसी भी व्यक्ति के निजता के अधिकार का हनन तो किया ही है साथ ही देश के संविधान की अवहेलना भी की है। उन्होंने कहा कि आज देश की स्वायत्त संस्थाओं की आजादी भी खतरे में है।भाजपा ने चुनाव आयोग को अपना कठपुतली तक बना दिया है। पत्रकारों के अधिकारों का हनन किया जा रहा है। राजनेताओं सहित जजों व विपक्षी दलों के फोन टेप कर उनकी जासूसी की जा रही है।

हिमाचल और देश-दुनिया की ताजा अपडेट के लिए facebook page like करें

राठौर ने कहा कि आज देश व प्रदेश गंभीर चुनौतियों से गुजर रहा है। भाजपा सरकार द्वारा झूठ बोल कर देश को गुमराह करने का पूरा प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने कहा कि देश मे ऑक्सीसिजन की कमी से किसी की कोई मौत नहीं हुई का केंद्र का यह दावा पूरी तरह झूठा और असत्य है।सरकार इसके आंकड़ों को छिपाने का प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि देश मे बढ़ती बेरोजगारी व मंहगाई पर काबू पाने में केंद्र व प्रदेश की भाजपा सरकारें पूरी तरफ विफ़ल रही है।

राठौर ने कहा कि एक तरफ जहां केंद्र की मोदी सरकार देश में लोगों की जासूसी करने में लगी हैं। वहीं, दूसरी ओर देश की आंतरिक सुरक्षा और इसका कोई ध्यान नहीं रहा है। उन्होंने कहा कि पुलवामा में सैनिक शिविर पर आतंकी हमला इंटेलिजेंस फैलियर था। केंद्र ने आज दिन तक इसकी जांच रिपोर्ट किसी को नहीं बताई। उन्होंने कहा कि एक तरफ कोरोना की मार से देश की अर्थव्यवस्था निम्न स्तर से भी नीचे चली गई है तो दूसरी तरफ प्रधानमंत्री विस्टा प्रोजेक्ट का निर्माण व अपने लिए करोड़ों का हवाई जहाज खरीद पर देश का पैसा पानी की तरह वहा रही है जो पूरी तरह फिजूलखर्ची है।

राठौर ने प्रदेश के मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से भी पूछा कि वह बताएं कि कोरोना कॉल में केंद्र के पैकेज से हिमाचल को कितना हिस्सा मिला और वह कहा खर्च हुआ। उन्होंने कहा कि देश व प्रदेश में लोकतंत्र की हत्या की जा रही है। इसपर कांग्रेस चुप बैठने वाली नहीं। उन्होंने कहा कि तानाशाही ज्यादा दिनों तक नही चलने वाली और इसका अंत जल्द होने वाला है।
इस दौरान गंगू राम मुसाफिर, केहर सिंह खाची, चेतराम ठाकुर, आदर्श सूद, कांग्रेस सचिव वेद प्रकाश ठाकुर, यशपाल तनाईक, सुशांत कपरेट, आनंद कौशल, अमित नंदा, इंद्र जीत सिंह, सत्यजीत नेगी, शशि बहल, किरण धानटा, जिला अध्यक्ष ग्रामीण यशवंत सिंह छाजटा, शहरी अध्यक्ष जितेंद्र चौधरी, महिला कांग्रेस अध्यक्ष जैनब चंदेल, सेवादल अध्यक्ष अनुराग शर्मा ,युवा कांग्रेस के कार्यकारी अध्यक्ष यदोपति ठाकुर, एनएसयूआई अध्यक्ष छतर सिंह ठाकुर,शिमला ग्रामीण ब्लॉक अध्यक्ष गोपाल शर्मा, कुसम्पटी ब्लॉक अध्यक्ष रामकृष्ण शांडिल के अतिरिक्त जिला महिला कांग्रेस अध्यक्ष विनीता वर्मा व अन्य पदाधिकारी व ग्रामीण व कुसम्पटी ब्लोको से आये अनेक पदाधिकारी व बड़ी संख्या में पार्टी कार्यकर्ता मौजूद थे।

केंद्र सरकार के जासूसी कांड के विरोध में प्रदेश कांग्रेस कमेटी ने इसकी जांच करवाने की मांग को लेकर राजभवन में प्रदेश के राज्यपाल को एक ज्ञापन भी सौपा। ज्ञापन देने वाले कांग्रेस के इस प्रतिनिधिमंडल में गंगू राम मुसाफिर, चेतराम ठाकुर, यशवंत सिंह छाजटा, जितेंद्र चौधरी, अनुराग शर्मा, जैनब चंदेल, यदोपति ठाकुर व छतर सिंह ठाकुर थे।

अर्की में युवा कांग्रेस ने सौंपा ज्ञापन

सोलन। केंद्र सरकार द्वारा कैबिनेट स्तर के मंत्रियों, पत्रकारों, विपक्षी नेताओं की सॉफ्टवेयर के माध्यम से जासूसी करवाने के मामले में अर्की युवा कांग्रेस द्वारा राज्यपाल को ज्ञापन सौंपा है। अर्की युवा कांग्रेस अध्यक्ष अशोक भारद्वाज की अध्यक्षता में ये ज्ञापन शुक्रवार को उपमंडलाधिकारी (एसडीएम) शहज़ाद आलम के माध्यम से राज्यपाल को भेजा गया है।

ज्ञापन के बारे में अधिक जानकारी देते हुए अर्की युवा कांग्रेस के अध्यक्ष अशोक भारद्वाज ने कहा कि केंद्र की सरकार को तुरंत बर्खास्त किया जाए, यदि जल्दी से जल्दी कार्रवाई नहीं की गई तो अर्की युवा कांग्रेस द्वारा इसके खिलाफ सड़कों पर प्रदर्शन व उग्र आंदोलन किया जाएगा। वहीं युवा कांग्रेस अर्की के मीडिया प्रभारी भीम सिंह ठाकुर ने कहा कि ये बहुत ही चिन्तनीय विषय है। हर व्यक्ति के मौलिक अधिकार होते हैं। उन अधिकारों का हनन हुआ है इस तरह की जासूसी करना बहुत ही गैर कानूनी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published.