Categories
Education Top News Himachal Latest KHAS KHABAR Shimla State News

चिंतनीय: हिमाचल में छात्रों की सीखने, पढ़ने और लिखने की क्षमता में आई गिरावट

स्थिति को सुधारने के लिए सरकार विस्तृत कार्ययोजना बनाएगी

 

शिमला। हाल ही में आए विभिन्न सर्वे दर्शाते हैं कि कोविड के दौरान छात्रों की सीखने, पढ़ने और लिखने की क्षमता में गिरावट आई है। सरकार शिक्षा व्यवस्था को सुदृढ़ करने के लिए वचनबद्ध है और इस स्थिति को सुधारने के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाएगी। यह जानकारी मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने हिमाचल विधानसभा में बजट भाषण के दौरान दी।

सीएम सुक्खू विधानसभा में कुछ ही देर में पेश करेंगे बजट 2023

सीएम ने बजट भाषण में कहा कि राष्ट्रीय शिक्षा नीति 2020 को लागू करते समय Quantitive के साथ साथ Quantitive Improvement पर ध्यान दिया जाएगा, ताकि छात्रों के Learning outcome में बढ़ोतरी हो सके। शैक्षणिक संस्थानों में शिक्षकों के खाली पद भरने में तेजी लाई जाएगी।
प्रदेश के युवाओं को विभिन्न Cometitive exam की तैयारी के लिए सुविधा देने के लिए प्रदेश के ऐसे ब्लॉक जहां पुस्तकालय/वाचनालय उपलब्ध नहीं है में नेशनल डिजिटल लाइब्रेरी की access आवश्यक पुस्तकों सहित पुस्तकालय का निर्माण करने की घोषणा की है।

इलेक्ट्रिक कार में बजट का पिटारा लेकर विधानसभा पहुंचे सीएम सुक्खू 

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 
Categories
Education Top News Himachal Latest KHAS KHABAR Shimla State News

हिमाचल बजट 2023: तीन मेडिकल कॉलेज में खुलेंगे Nursing College

 गर्भवती महिलाओं और बच्चों को इंसुलिन पंप होंगे उपलब्ध

शिमला। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू ने अपने पहले बजट भाषण में नाहन, चंबा और हमीरपुर मेडिकल कॉलेज में नर्सिंग कॉलेज शुरू करने की घोषणा की है। साथ ही सभी मेडिकल कॉलेजों में PET Scan स्थापित करने की घोषणा भी की है। इस पर 50 करोड़ रुपए खर्च होंगे। विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों के लिए आवश्यक दवाइयां और आधुनिकतम मशीनरी व उपकरण खरीद और उचित मूल्य और समय पर उनकी आपूर्ति सुनिश्चित करने के उद्देश्य से Himachal Pradesh Medical Services Corporation की स्थापना की जाएगी।

हिमाचल बजट 2023 : 25 हजार पदों को भरने का ऐलान, विधायक ऐच्छिक निधि बढ़ाई

टाइप-1 शुगर से पीड़ित गर्भवती महिलाओं और बच्चों को प्रतिदिन इंसुलिन इंजेक्शन लगवाना पड़ता है, जिससे उन्हें किडनी और अन्य अंगों के गंभीर संक्रमण का खतरा बना रहता है। इन गर्भवती महिलाओं और बच्चों को सरकार द्वारा इंसुलिन पंप उपलब्ध करवाए जाएंगे। स्वास्थ्य क्षेत्र में कुल 3 हजार 139 करोड़ रुपए का बजट प्रस्तावित है।

मेडिकल कॉलेजों के वर्ड क्लास मेडिकल टेक्नोलॉजी से लैस किया जाएगा। आईजीएमसी शिमला, चमियाणा शिमला, टांड़ा कांगड़ा, हमीरपुर, नाहन, चंबा और नेरचौक स्थित मेडिकल कॉलेजों में  Urology, General Surgery, Gynaecology, cardiothoracic Surgery and Gastro Surgery विभागों में चरणबद्ध तरीके से Robotic Surgery की सुविधा उपलब्ध करवाई जाएगी। इस पर वर्ष 2023-24 में लगभग 100 करोड़ रुपए की राशि खर्च की जाएगी।
मेडिकल कॉलेजों के Casualty विभाग में एक बिस्तर पर एक से अधिक मरीज होते हैं।

Breaking हिमाचल बजट 2023 : कांगड़ा टूरिज्म कैपिटल, बनखंडी में चिड़ियाघर को 60 करोड़ 

इस कारण मरीजों को अन्य बीमारियां होने की पूरी संभावना रहती है। इस परिस्थिति से निपटने के लिए प्रदेश के सभी मेडिकल कॉलेजों में Casualty विभाग को अपग्रेड करके इंमरजेंसी मेडिसीन विभाग Emergency Medicine Department बनाने की घोषणा की गई है। इस योजना के अंतर्गत लगभग 150 करोड़ रुपए की लागत से 50 बिस्तरों की क्षमता के Critical care Blocks का निर्माण किया जाएगा। इस सेवा को 24 इनटू 7 उपलब्ध करवाने के उद्देश्य से उपयुक्त विशेषज्ञ, मेडिकल अधिकारी, स्टाफ नर्स और अन्य कर्मियों की उपलब्धता सुनिश्चित की जाएगी। मरीजों की संख्या अधिक होने की स्थिति में आसपास के स्वास्थ्य संस्थानों से समन्वय किया जाएगा।

प्रत्येक विधानसभा चुनाव क्षेत्र में एक स्वास्थ्य संस्थान को आदर्श स्वास्थ्य संस्थान के रूप में विकसित किया जाएगा। इनमें विभिन्न विशेशज्ञों और अन्य स्टाफ सहित 134 तरह की लेबोरेटरी जांच सुविधाएं और आवश्यकतानुसार Latest State of the Art Technology की MRI, CT Scan, Ultrasound और Digital X Ray सुविधाएं उपलब्ध करवाईं जाएंगी।
डॉ. राधाकृष्णन मेडिकल कॉलेज हमीरपुर के साथ कैंसर केयर के लिए एक Centre of Excellence स्थापित किया जाएगा। हमीरपुर मेडिकल कॉलेज में Nuclear Medicine Department की स्थापना करने की घोषणा भी की है। 2023-24 में इसके लिए 50 करोड़ रुपए प्रस्तावित हैं।

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 

Categories
Education Top News Himachal Latest KHAS KHABAR Shimla State News

हिमाचल बजट 2023 : स्कूलों में टाट का झंझट होगा खत्म, 40 हजार डेस्क देगी सरकार

पाठशालाओं में खाली पद भरने की प्रक्रिया होगी तेज

शिमला। मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू विधानसभा में बजट पेश कर रहे हैं। शिक्षा क्षेत्र में 8 हजार करोड़ से अधिक का प्रावधान किया है। मुख्यमंत्री सुखविंदर सुक्खू ने कहा कि स्कूलों में खाली पद भरने की प्रक्रिया तेज होगी।

Breaking हिमाचल बजट 2023 : महिलाओं को 1,500 भत्ते को लेकर बड़ा ऐलान
उनकी सरकार का प्रयास है कि चल रहे स्कूलों में स्टाफ, खेल मैदान, लाईब्रेरी आदि की सुविधा मुहैया करवाई जाए। सभी विस क्षेत्र राजीव गांधी मार्डन डे बोर्डिंग स्कूलों के लिए 300 करोड़ रुपए का प्रावधान किया है। मुख्यमंत्री ने कहा कि कॉलेज में दो बार रोजगार मेले लगेंगे।
सभी सीनियर सेकेंडरी स्कूल में लाइब्रेरी रूम स्थापित करने की घोषणा की है। इसके अलावा 10 हजार छात्रों को टेबलेट दिए जाएंगे। हिमाचल के 762 स्कूल में हार्डवेयर और सॉफ्टवेयर मुहैया करवाए जाएंगे।  उन्होंने कहा कि अभी भी कुछ स्कूलों में छात्र टाट पर बैठते हैं। ऐसे स्कूलों को  40 हजार डेस्क दिए जाएंगे।  स्पोर्टस होस्टल में रहने वाले छात्रों की डाइट मनी 120 रुपए से बढ़ाकर 240 करने की घोषणा की है।
Breaking हिमाचल बजट 2023 : कांगड़ा टूरिज्म कैपिटल, बनखंडी में चिड़ियाघर को 60 करोड़ 

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 
Categories
Education Top News Himachal Latest KHAS KHABAR Kangra

HPBOSE ने प्रिंट करवा स्कूलों को भेज दी ‘सुधा’, शिक्षा विभाग का पढ़ाने से इनकार

शिक्षा निदेशक की अनभिज्ञता ने उम्मीदों पर फेरा पानी

धर्मशाला। हिमाचल के स्कूलों शिक्षा बोर्ड तीसरी कक्षा से संस्कृत की पढ़ाई शुरू करने जा रहा है। इसके  लिए हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड तीसरी से पांचवीं कक्षा तक संस्कृत की पढ़ाई शुरू करने के लिए ‘सुधा’ नाम से पुस्तक प्रिंट करवा कर स्कूलों को भेज दी है।

शिक्षा बोर्ड की योजना के अनुसार तीसरी से पांचवीं कक्षा तक संस्कृत की एक ही पुस्तक होगी। तीसरी और चौथी कक्षा में इसे केवल मात्र पढ़ाया जाएगा, जबकि इस पुस्तक से संबंधित परीक्षा पांचवीं कक्षा में ली जाएगी। लेकिन, प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय ने इस किताब को शुरू करने से इनकार कर दिया है।

SBI में नौकरी का मौका : आवेदन के लिए कुछ ही दिन बाकी-जल्दी करें

प्रारंभिक शिक्षा निदेशक के संस्कृत की पढ़ाई शुरू करने पर जताई अनभिज्ञता ने विषय को शुरू करने की उम्मीदों पर पानी फेर दिया है।

वहीं, दूसरी तरफ प्रारंभिक शिक्षा हिमाचल प्रदेश के निदेशक घनश्याम चंद इन दिनों जिला कांगड़ा के दौरे पर हैं। इस दौरान उन्होंने जिले के कई स्कूलों का दौरा कर बीईईओ और सीएचटी के साथ बैठक की है।

धर्मपुर सड़क हादसा : आरोपी चालक के पास नहीं था फोर-व्हीलर लाइसेंस

मंगलवार को उन्होंने प्रारंभिक शिक्षा उपनिदेशक कांगड़ा के कार्यालय में तीसरी कक्षा से संस्कृत की पढ़ाई शुरू किए जाने के सवाल के जवाब पर कहा था कि तीसरी कक्षा से स्कूलों में संस्कृत की पढ़ाई शुरू हो रही है इस संदर्भ में उन्हें कोई जानकारी नहीं है।

डिप्लोमा होल्डर्स के लिए सुनहरा मौका, ITI ऊना में कैंपस इंटरव्यू 14 को

निदेशक ने कहा कि उन्होंने सुना जरूर है कि तीसरी कक्षा से संस्कृत की पढ़ाई शुरू की जाएगी, लेकिन इस विषय की किताब को शुरू करने की अभी तक प्रारंभिक शिक्षा निदेशालय की कोई योजना नहीं है।

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 

 

Categories
Education Top News Himachal Latest KHAS KHABAR Shimla State News

सुक्खू बोले-युवाओं को आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से आधुनिक शिक्षा देगी सरकार

सीएम ने हिमाचल स्टूडेंट्स यूनियन के वार्षिक कार्यक्रम  में की शिरकत

शिमला। मुख्यमंत्री ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने रविवार को पंजाब विश्वविद्यालय चंडीगढ़ में हिमाचल स्टूडेंट्स यूनियन द्वारा आयोजित वार्षिक सांस्कृतिक कार्यक्रम ‘हिमाचल एक झलक’ में बतौर मुख्य अतिथि शिरकत की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री ने युवाओं का आह्वान किया कि हिमाचल की समृद्ध संस्कृति को देश-विदेश तक पहुंचाने के लिए वे प्रदेश के युवा दूत के रूप में कार्य करें, ताकि विश्व हिमाचल की विशिष्टता को आत्मसात कर सके।

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार तकनीकी शिक्षा प्राप्त कर रहे युवाओं को इस सत्र से ही आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस के माध्यम से आधुनिक प्रौद्योगिकी आधारित शिक्षा प्रदान करेगी। इससे हमारे युवा तकनीकी रूप से सशक्त होकर वैश्विक स्तर पर बेहतर रोजगार प्राप्त कर पाएंगे। उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार हिमाचल जैसे दुर्गम भौगोलिक परिस्थितियों वाले राज्य में ग्रामीण स्तर पर बच्चों को बेहतर शिक्षा प्रदान करने के लिए सभी विधानसभा क्षेत्रों में चरणबद्ध आधार पर राजीव गांधी डे बोर्डिंग विद्यालय आरंभ करेगी।

RKMV मारपीट मामला : ABVP कार्यकर्ताओं ने डीसी ऑफिस के बाहर किया प्रदर्शन

मुख्यमंत्री ने कहा कि हिमाचल की मनभावन संस्कृति, सरल रहन-सहन, सुंदर पहनावा और पौष्टिक आहार देश-विदेश के पर्यटकों को आकर्षित करते हैं। युवाओं को न केवल इस विशेषता को जीवंत रखना होगा अपितु लोगों को इससे रू-ब-रू भी करवाना होगा। उन्होंने कहा कि संस्कृति और लोकाचार का प्रसार पर्यटन क्षेत्र को बढ़ावा देकर प्रदेश की आर्थिकी को मजबूत करने में भी महत्वपूर्ण भूमिका निभाएगा। उन्होंने कहा कि अपनी संस्कृति से जुड़कर ही सुरक्षित समाज का निर्माण किया जा सकता है।

मुख्यमंत्री ने कहा कि वर्तमान प्रदेश सरकार सत्ता को जनहित के लिए व्यवस्था परिवर्तन का साधन मानकर कार्य कर रही है। अभी तक के अपने कार्यकाल में प्रदेश सरकार ने समाज के विभिन्न वर्गों को राहत पहुंचाने का किया कार्य किया है। उन्होंने कहा कि सरकार मुख्यमंत्री सुख-आश्रय योजना शुरू कर बेसहारा एवं अनाथ बच्चों की शिक्षा एवं अन्य आवश्यकताओं को पूरा करने की दिशा में सफलता के साथ आगे बढ़ रही है।

सुधीर बोले- कांगड़ा हवाई अड्डे का विस्तारीकरण महत्वपूर्ण, रोजगार के मिलेंगे अवसर

मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार भावी पीढ़ियों को एक समृद्ध और सुरक्षित हिमाचल प्रदान करना चाहती है। इस उद्देश्य की प्राप्ति के लिए प्रदेश में हरित ऊर्जा को बढ़ावा दिया जा रहा है और वर्ष 2025 तक हिमाचल देश का प्रथम हरित ऊर्जा राज्य बनेगा। उन्होंने कहा कि अगले तीन वर्षों में प्रदेश में पूर्ण रूप से इलेक्ट्रिक बसों का संचालन आरंभ कर दिया जाएगा।
ठाकुर सुखविंदर सिंह सुक्खू ने कहा कि युवा देश का भविष्य है और उनकी असीमित व सकारात्मक ऊर्जा ही देश और प्रदेश की असली ताकत है। जागरूक युवा ही सशक्त समाज का निर्माण कर सकते हैं। उन्होंने युवाओं से आग्रह किया कि ज्ञान के माध्यम से सदैव जागरूक और नशे जैसी सामाजिक बुराई से दूर रहें।

मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर अपने छात्र और राजनीतिक जीवन की स्मृतियां सभी से साझा की। उन्होंने छात्रों का आह्वान किया कि जीवन में एक लक्ष्य निर्धारित कर आगे बढ़ें और लक्ष्य प्राप्ति के उपरांत समाज की भलाई में अपना योगदान दें। उन्होंने हिमाचल स्टूडेंट यूनियन के सांस्कृतिक कार्यक्रम प्रस्तुत करने वाले छात्रों को तीन लाख रुपये प्रदान करने की घोषणा की। उन्होंने हिमाचल स्टूडेंट्स यूनियन की पत्रिका का विमोचन भी किया।

लोकसभा सचिवालय में निकली भर्ती, भरे जाएंगे 13 पद-जल्द करें आवेदन

इससे पूर्व हिमाचल स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष सुनील ठाकुर ने मुख्यमंत्री का स्वागत किया और यूनियन की गतिविधियों से उन्हें अवगत करवाया।

इस अवसर पर शिक्षा मंत्री रोहित ठाकुर, मुख्य संसदीय सचिव राम कुमार चौधरी, हिमाचल प्रदेश उच्च न्यायालय से सेवानिवृत्त न्यायाधीश न्यायमूर्ति धर्म चंद चौधरी, कसौली विधानसभा क्षेत्र के विधायक विनोद सुल्तानपुरी, सुंदरनगर के पूर्व विधायक सोहन लाल ठाकुर, हिमाचल कांग्रेस सेवादल के अध्यक्ष अनुराग शर्मा, हिमाचल कांग्रेस के अन्य पदाधिकारी, हिमाचल स्टूडेंट्स यूनियन के पदाधिकारी, अन्य गणमान्य व्यक्ति और बड़ी संख्या में छात्र कार्यक्रम में उपस्थित रहे।

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 

Categories
Education TRENDING NEWS Top News Himachal Latest Kangra State News

HPBose: जल्द कर लें यह काम, नहीं तो छात्रवृत्ति से धोना पड़ सकता है हाथ

अंतिम मेरिट सूची जारी होने से पहले कैटेगरी में करवाएं शुद्धि

धर्मशाला। पंजीकरण के समय अगर किसी छात्र की कैटेगरी/सब कैटेगरी गलत अंकित है तो जल्द शुद्धि करवा लें। नहीं तो छात्र को छात्रवृत्ति से वंचित रहना पड़ सकता है। अंतिम मेरिट सूची के बाद किसी भी प्रकार की शुद्धि हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड (HPBose) द्वारा नहीं की जाएगी। इसको लेकर हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड ने स्कूलों के समस्त प्रधानाचार्य/मुख्याध्यापक को पत्र लिखा है।

HPPSC ने असिस्टेंट प्रोफेसर अंग्रेजी के स्क्रीनिंग टेस्ट का रिजल्ट किया आउट

 

पत्र में लिखा गया है कि हिमाचल प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड (HPBose) परीक्षा विनियमन के नियम 14.2 के उपनियम 14.2.3 के अनुसार अंतिम मेरिट सूची जारी होने से पहले ही कैटेगरी/सब कैटेगरी में बदलाव किया जा सकता है, उसके उपरांत छात्रवृत्ति के लाभ के लिए किसी भी परीक्षार्थी की कैटेगरी/सब कैटेगरी में कोई बदलाव/शुद्धि नहीं की जा सकती है।

हिमाचल मिशन डिनोटिफाई: शिमला डीसी ऑफिस के बाहर भाजपा का प्रदर्शन

 

बता दें कि सरकार द्वारा प्रति वर्ष कैटेगरी के आधार पर मेधावी छात्रों को छात्रवृत्ति दी जाती है, जिसकी कैटेगरी वाइज लिस्ट वार्षिक परीक्षा परिणाम के आधार पर मुख्यता हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड (HPBose) द्वारा तैयार की जाती है तथा संबंधित विभागों को भेजी जाती है। पर बोर्ड के ध्यान में आया है कि कई परीक्षार्थियों की कैटेगरी/सब कैटेगरी पंजीकरण के समय संबंधित स्कूलों द्वारा गलत अंकित कर दी जाती है और उसकी शुद्धि समय पर नहीं करवाई जाती है, जिस कारण बहुत मेधावी परीक्षार्थी सरकार द्वारा कैटेगरी के आधार पर दी जाने वाली छात्रवृत्ति से वंचित रह जाते हैं।

गरीब परिवार की बेटियों के विवाह को दी जाने वाली वित्तीय सहायता में रुकेगी डुप्लीकेसी

हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड (HPBose) ने कहा है कि हिमाचल के समस्त प्रधानाचार्य/मुख्याध्यापक यह सुनिश्चित करें कि सत्र 2023 में आयोजित की जाने वाली वार्षिक परीक्षा के संबंधित यदि किसी परीक्षार्थी की कैटेगरी/सब कैटेगरी में किसी भी प्रकार की अशुद्धि हो तो उसकी शुद्धि के लिए अंतिम मेरिट सूची जारी होने से पूर्व बोर्ड कार्यालय में पत्र व्यवहार कर शुद्धि करवाना सुनिश्चित करें।

hpbose

 

अंतिम मेरिट सूची जारी होने के बाद नियमानुसार छात्रवृत्ति का लाभ लेने के लिए किसी भी परीक्षार्थी की कैटेगरी/सब कैटेगरी में किसी भी प्रकार की शुद्धि नहीं की जाएगी। यदि कोई परीक्षार्थी गलत कैटेगरी के कारण छात्रवृत्ति से वंचित रहता है तो उसका पूर्ण उत्तरदायित्व संबंधित स्कूल के प्रधानाचार्य/मुख्याध्यापक का होगा।

ऊना युवक मौत मामला: शव लेकर 20 घंटे से सड़क पर बैठे परिजन, वार्ता के बाद भी नहीं हटे

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 

Categories
Education Top News Himachal Latest National News KHAS KHABAR State News

10वीं और 12वीं कक्षा के पेपर लीक की अफवाहों पर CBSE सतर्क, एक छात्र पर होगी कार्रवाई

नई दिल्ली। सोशल मीडिया पर 10वीं और 12वीं कक्षा के पेपर लीक के बारे में अफवाहें फैलाने या 2023 परीक्षाओं के प्रश्नपत्रों तक पहुंच का दावा करने वालों के खिलाफ सीबीएसई ने कड़ा संज्ञान लिया है। ऐसे लोगों के खिलाफ बोर्ड सख्त कानूनी कार्रवाई करेगा। वहीं, बोर्ड ने छात्रों और अभिभावकों से ऐसी अफवाहों पर विश्वास न करने की सलाह दी है।

बता दें कि सीबीएसई (CBSE) की 10वीं और 12वीं कक्षा की वार्षिक परीक्षाएं शुरू हो गई हैं और 5 अप्रैल, 2023 तक जारी रहेंगी। बोर्ड ने परीक्षाओं के सुचारू और निष्पक्ष संचालन के लिए विस्तृत व्यवस्था की है।

मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी का शिमला में विरोध, सड़कों पर उतरे ‘आप’ कार्यकर्ता 

सीबीएसई (CBSE) के संज्ञान में आया है कि कुछ असामाजिक तत्व नियमित रूप से यूट्यूब, फेसबुक, ट्विटर और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर पेपर लीक के बारे में अफवाहें फैला रहे हैं या 2023 परीक्षाओं के प्रश्नपत्रों तक पहुंच का दावा कर रहे हैं। ये व्यक्ति, समूह और एजेंसियां ​​भोले-भाले लोगों को लूटने का इरादा रखती हैं। इसके बदले छात्र और माता-पिता से पैसे की मांग करते हैं। बोर्ड का कहना है कि ऐसी गैरजिम्मेदार
गतिविधियां छात्रों और जनता के बीच भ्रम पैदा करती हैं।

फर्जी खबरें और अफवाहें फैलाने वालों की पहचान करने और उनके खिलाफ कार्रवाई करने के लिए बोर्ड सतर्क और सक्रिय है।
सीबीएसई (CBSE) आईपीसी और आईटी अधिनियम के विभिन्न प्रावधानों के तहत सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म का उपयोग करके फर्जी समाचार प्रसारित करने में शामिल व्यक्तियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के लिए नियमित रूप से दिल्ली पुलिस स्पेशल सेल (एमएसी) को सूचित कर रहा है।

सोलन : चुन्नी का झूला बना फंदा, दम घुटने से मासूम की गई जान

फर्जी खबरें फैलाने में लिप्त पाए जाने पर सीबीएसई एक छात्र के खिलाफ UNFAIR MEANS नियमों और आईपीसी की विभिन्न धाराओं के तहत कार्रवाई करेगा। सीबीएसई (CBSE) ने माता-पिता से भी अनुरोध किया है कि वे अपने बच्चों को ऐसी अफवाहों पर विश्वास न करने और ऐसी किसी भी गतिविधि में शामिल न होने के लिए मार्गदर्शन करें जो बोर्ड परीक्षाओं के सुचारू संचालन को बाधित करती हो।

सीबीएसई ने नोटिस जारी कर ऐसी असत्यापित खबरों और अफवाहों के खिलाफ जनता को सतर्क किया है। अनुरोध किया है कि वे ऐसी गतिविधियों में भाग न लें या किसी भी तरह के संचार के माध्यम से ऐसी जानकारी का प्रसार न करें।

HRTC चालक पदों पर भर्ती : विभाग ने तय किए ये नियम, अप्लाई करने से पहले पढ़ें

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 
Categories
Education Top News Himachal Latest Kangra State News

बत्रा कॉलेज में शुरू होगी एमए इंग्लिश, हिंदी और पीजीडीसीए की कक्षाएं

पालमपुर। मुख्य संसदीय सचिव शहरी विकास एवं शिक्षा आशीष बुटेल ने सोमवार को शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा राजकीय महाविद्यालय पालमपुर के वार्षिक पारितोषिक वितरण समारोह की मुख्यअतिथि के रूप में शिरकत की।
आशीष बुटेल ने कहा कि पालमपुर वीर भूमि के नाम से जानी जाती है और भारतीय सेना के सर्वोच्च सम्मान परमवीर चक्र सर्वप्रथम  शहीद मेजर सोम नाथ शर्मा को उनके अदम्य साहस और पराक्रम के लिए दिया गया। कारगिल युद्ध में  शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा को भी उनके पराक्रम के परमवीर चक्र दिया गया। उन्होंने कहा कि शांति काल का सर्वोच्च सम्मान अशोक चक्र शहीद मेजर सुधीर वालिया को उनकी वीरता के लिए दिया गया। इसके अलावा कैप्टन सौरभ कालिया सहित कई वीरों ने मातृ भूमि की रक्षा के लिए अपना सर्वोच्च बलिदान दिया है।
 उन्होंने शहीद कैप्टन विक्रम बत्रा राजकीय  महाविद्यालय पालमपुर में एमए हिंदी एवं इंग्लिश विषय की कक्षाएं और पीजीडीसीए कक्षाएं आरंभ करवाने की घोषणा की।  उन्होंने महाविद्यालय में पीने के पानी के लिए चार कूलर व 12 सोलर लाइटें देने की भी घोषणा की। उन्होंने कहा कि जल्द ही महाविद्यालय में एक सभागार का निर्माण भी किया जाएगा। उन्होंने कहा कि 40 लाख रुपए की लागत से महाविद्यालय के मैदान का विस्तार भी किया जा रहा है।
सीपीएस ने  पढ़ाई के अलावा विभिन्न गतिविधियों में उत्कृष्ट प्रदर्शन करने वाले विद्यार्थियों को पुरस्कृत करने के साथ उनका हौसला बढ़ाया। उन्होंने कहा कि बहुत गर्व की बात है कि इस महाविद्यालय में 60 प्रतिशत छात्राएं शिक्षा ग्रहण कर रही हैं।
इससे पहले महाविद्यालय की प्रधानाचार्य डॉ. प्रज्ञा मिश्रा ने मुख्यातिथि का स्वागत किया और महाविद्यालय का वार्षिक रिपोर्ट प्रस्तुत की। उन्होंने महाविद्यालय द्वारा चलाई जा रही विभिन्न गतिविधियों के बारे में विस्तृत जानकारी दी।
मुख्य संसदीय सचिव ने शहीद कैप्टन विक्रम बत्तरा के पिता गिरधारी लाल बत्रा को भी सम्मानित किया। इस अवसर पर विद्यार्थियों द्वारा सांस्कृतिक कार्यक्रम भी प्रस्तुत किया गया। मुख्य संसदीय सचिव ने सांस्कृतिक गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए 50 हज़ार रुपये देने की घोषणा की।
यह रहे उपस्थित
 कार्यक्रम में ब्लॉक कांग्रेस अध्यक्ष त्रिलोक चंद, नगर निगम महापौर पूनम वाली, उपमहापौर अनीश नाग, पार्षद इंदु ठाकुर, विनय कपूर, जिला महिला  कांग्रेस  अध्यक्ष निशा शर्मा, सलाहकार ब्लॉक कांग्रेस  एमएस राणा, युवा कांग्रेस ब्लॉक अध्यक्ष अनुराग नरयाल, विजय शर्मा, प्रवीण भट्ट, ओंकार कपूर, बीरबल, कमला कपूर, अश्वनी सूद, व्यापार मंडल अध्यक्ष सुरेंद्र सूद, महाविद्यालय के उप प्रधानाचार्य डॉ. अश्वनी पराशर,  महाविद्यालय के प्राचार्य, छात्र, अभिभावकों एवं विभिन्न विभागों के अधिकारी व कर्मचारियों सहित क्षेत्र के गणमान्य लोग उपस्थित रहे।

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 
Categories
Education TRENDING NEWS Top News Himachal Latest Shimla State News

HPU में PhD एडमिशन की डेट फिर बढ़ी, अब 28 तक कर सकेंगे अप्लाई

करीब 173 सीटों पर मांगे गए हैं आवेदन

शिमला। हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी (HPU) में PhD में एडमिशन की डेट को एक बार फिर बढ़ा दिया गया है। अब विद्यार्थी 28 फरवरी तक अप्लाई कर सकते हैं। हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी ने पीएचडी के लिए करीब 173 सीटों पर आवेदन मांगे हैं। बता दें कि लगातार चौथी बार एडमिशन की डेट को बढ़ाया गया है।

करीब एक महीने पहले प्रशासन की ओर से PhD में एडमिशन के लिए नोटिस निकाला गया। एक फरवरी को आवेदन करने की डेट खत्म हुई। इसके बाद 7 फरवरी तक तारीख बढ़ा दी गई। इसके बाद फिर 15 फरवरी तक डेट को बढ़ाया गया। फिर 23 फरवरी लास्ट डेट रखी गई और अब 28 फरवरी तक एडमिशन की डेट को बढ़ा दिया गया है।

ऊना बल्क ड्रग पार्क के लिए ग्रांट जारी, केंद्र से मिली 225 करोड़ की पहली किस्त

हिमाचल प्रदेश यूनिवर्सिटी (HPU) के 25 विभागों में PhD की 173 सीटें भरने के लिए विद्यार्थी ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। सेशन 2023-24 के लिए यूनिवर्सिटी के 25 विभागों में PhD की 173 सीटें प्रवेश प्रक्रिया के माध्यम से भरी जानी हैं। एंट्रेंस टेस्ट की डेट बाद में अलग से जारी की जाएगी।

नए नियमों के तहत कॉलेज के बाद स्कूल लेक्चररों को भी यह सुविधा दी गई है। इसके लिए नेट क्वालीफाई होना जरूरी नहीं होगा। PG डिग्री वाले स्कूल लेक्चरर PhD का एंट्रेंस टेस्ट क्वालीफाई करके एडमिशन ले सकेंगे। इसी सत्र से स्कूल लेक्चररों को यह सुविधा दी गई है।

दिल लूट रही ये इलेक्ट्रिक कार, फुल चार्ज में चलती है 300 किलोमीटर

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें 

 

Categories
Education TRENDING NEWS Top News Himachal Latest Kangra

DAV बनखंडी के 4 छात्रों ने जीता इंस्पायर अवार्ड, रोशन किया स्कूल व जिले का नाम

चयनित विद्यार्थियों को मिलेगा दस हजार रुपए का पुरस्कार

देहरा। भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग के द्वारा स्कूली शिक्षा अध्ययन कर रहे विद्यार्थियों के लिए आयोजित राष्ट्रीय स्तर की इंस्पायर अवार्ड मानक प्रतियोगिता में डीएवी बनखंडी के चार विद्यार्थियों ने चयनित होकर विद्यालय एवं जिले का नाम रोशन किया है। डीएवी बनखंडी की युविका धीमान, प्रकृति कौंडल, ऋषभ,  कृतिका राणा को प्रतिष्ठित “इंस्पायर मानक” अवार्ड के लिए  चुना गया है, अवार्ड में चयनित प्रत्येक विद्यार्थी को प्रमाण पत्र के साथ दस हजार रुपए पुरस्कार दिया जाएगा।
ज्वालाजी : सिहोरपांई में दी गई टीबी के लक्षण व इससे बचाव की जानकारी 

यह पुरस्कार भारत सरकार के विज्ञान और प्रौद्योगिकी विभाग द्वारा बच्चों को विज्ञान के क्षेत्र में  “इनोवेटिव आइडिया “के लिए दिया जाता है ।  इस पुरस्कार के मिलने से  बनखंडी के आसपास के क्षेत्र में खुशी की लहर है।

शहीद राजकुमार के परिजनों को विधायक इंद्र दत्त लखनपाल ने सौंपा 5 लाख का चेक

विद्यार्थियों की इस महान उपलब्धि के लिए डीएवी स्कूल बनखंडी के उपाध्यक्ष  बीआर दियाल,  एआरओ  विक्रम सिंह, मैनेजर  नमित शर्मा, प्रधानाचार्य सुभाष शर्मा ने बच्चों को शुभकामनाएं दी और उनके उज्जवल भविष्य की कामनाएं की।

आज की ताजा खबर, ब्रेकिंग न्यूज़, लाइव न्यूज अपडेट पढ़ें https://ewn24.in/ पर,  ताजा अपडेट के लिए हमारा Facebook Page Like करें