Categories
Top News Kangra State News

स्वयं सहायता समूहों को जगाई अलख, समूह गठन के बताए फायदे

ज्वालाजी में जागरूकता शिविर का आयोजन

ज्वालाजी। सवेरा संस्थान रैंखा द्वारा राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (नाबार्ड) हिप्र के सहयोग से जिला कांगड़ा के देहरा विकास खंड के अंतर्गत गीता भवन ज्वालाजी में स्वयं सहायता समूहों के लिए जागरूकता कार्यशाला का आयोजन किया गया। इसकी अध्यक्षता जिला विकास प्रबंधक नाबार्ड धर्मशाला अरुण खन्ना ने की। उन्होंने उपस्थित स्वयं सहायता समूहों को समूह गठन के फायदे व नाबार्ड की योजनाओं के बारे में विस्तृत जानकारी दी व बैंक अधिकारियों का कार्यशाला में उपस्थित होने के लिए स्वागत व धन्यवाद किया।

शाखा प्रबंधक हिमाचल ग्रामीण बैंक भड़ोली गुरुबचन सिंह, शाखा प्रबंधक हिमाचल ग्रामीण बैंक देहरा अशोक कुमार, शाखा प्रबन्धक पीएनबी देहरा राम कुमार कौंडल, पीएनबी घलौर आयुष कुमार, कांगड़ा केन्द्रीय सहकारी बैंक देहरा निलम वर्मा, कांगड़ा केन्द्रीय सहकारी बैंक ज्वालाजी दिग्विजय सिंह राणा, कांगड़ा केन्द्रीय सहकारी बैंक अधवाणी अंकुश, कृषि विकास अधिकारी पीएनबी ज्वालाजी अतिथि के रूप में उपस्थित रहे।

सभी उपस्थित बैंक अधिकारियों ने समूहों को बैंक की योजनाओं के बारे में जानकारी दी व समूहों को हर संभव मदद करने का आश्वासन दिया। सवेरा संस्थान के निदेशक सुभाष चौहान ने आज की कार्यशाला के उद्देश्य व संस्थान द्वारा की जाने वाली आगामी योजनाओं के बारे में जानकारी दी।

समाजसेवी व पूर्व पंचायत प्रधान गुम्मर सुधा कौण्डल, पंचायत प्रधान सिहोरपांई सुनीता देवी व पूर्व बीडीसी उपाध्यक्षा व समाज सेवी सुलेखा चौधरी इन तीनों ने महिला सशक्तिकरण पर बल देते हुए महिलाओं को हर क्षेत्र में आगे आने के लिए प्रेरित किया, ताकि महिलाएं आत्मनिर्भर बन सकें।

इस कार्यशाला में 22 स्वयं सहायता समूहों की लगभग 88 महिलाओं ने भाग लिया। इस अवसर पर सवेरा संस्थान की ओर से सिमरो देवी, संतोष कुमारी, अदिति वर्मा व प्रवीण शर्मा, विनोद राणा व आर्मी रिटायर्ड सूबेदार मेजर किशोर चंद उपस्थित रहे।

ये भी पढ़ें –  हिमाचल स्कूल शिक्षा बोर्ड ने जारी की अनुपूरक परीक्षाओं की डेटशीट – देखें यहां

Leave a Reply

Your email address will not be published.